Homeबिहारबिहार के जेलों में इस दिन मिलेंगे 80 मेडिकल ऑफिसर, 82 हजार...

बिहार के जेलों में इस दिन मिलेंगे 80 मेडिकल ऑफिसर, 82 हजार रुपए होगी सैलरी, ऐसे होगी नियुक्ति

बिहार में लगातार रोजगार एक चर्चा का विषय बना हुआ है. प्रतिदिन किसी न किसी तरह की बहाली होने की खबर सामने आती है. ऐसे में फिर से बहाली निकली है लेकिन इस बार राज्य के विभिन्न काराओं में संविदा के आधार पर सामान्य और विशेषज्ञ चिकित्सकों की बहाली होने की बात चल रही है. मिली जानकारी के अनुसार यह प्रक्रिया नवंबर तक पूरी हो जाएगी. बता दें, 80 पदों पर होने वाली इस नियुक्त के लिये दो नवंबर से साक्षात्कार लिये जायेंगे. विशेषज्ञ डाक्टर के 14 पदों के लिये एमबीबीएस के साथ-साथ एमडी या एमएस की डिग्रीधारी ही पात्र होंगे. बाकी पद सामान्य डाक्टर के हैं. इस पद के लिये एमबीबीएस डिग्रीधारी पात्र माने गये हैं. विशेषज्ञ डाक्टर को 82 हजार तथा सामान्य डाक्टर को 65 हजार रुपये प्रतिमाह मानदेय दिया जायेगा.

ए टू जेड होगा वॉक – इन – इंटरव्यू का आधार
वॉक – इन – इंटरव्यू के आधार पर होने वाली इस बहाली में नाम की अंग्रेजी के पहले अक्षर के आधार पर साक्षात्कार के लिये बुलाया गया है. जिनके नाम की स्पैलिंग का पहला अक्षर ए से एफ तक है उनको दो नवंबर को बुलाया गया है. जी से पी तक वाले तीन तथा क्यू और उसके बाद वाले अक्षर से जिन डाक्टरों के नाम की स्पैलिंग शुरू होती है वह नवंबर को साक्षात्कार देंगे. कारा एवं सुधार सेवाएं निरीक्षणालय ने 19 सितंबर तक आवेदन लिये थे. रिक्ति की संख्या कम अधिक भी हो सकती है. 65 वर्ष की आयु वाले डॉक्टर ही इन पदों के लिए योग्य माने गये हैं.

देना होगा नियमित नियुक्त का दावा न करने का शपथ पत्र
बिहार राज्य चिकित्सा परिषद से स्थायी निबंधित डाक्टर बहाल होंगे. सभी को 100 रुपये के नन ज्यूडीशियल स्टांप पर यह लिखकर देना होगा कि वह नियमित नियुक्ति का दावा नहीं करेंगे. विशेषज्ञ चिकित्सकों के पद कोटिवार अनारक्षित – दो , आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग एक , एससी वर्ग तीन, ओबीसी चार , बीसी दो तथा पिछड़ा वर्ग की महिला के लिये एक पद आरक्षित है. एक पद सामान्य वर्ग की महिला के लिये हैं.

दो पद दिव्यांग के लिये आरक्षित
सामान्य चिकित्सक के पद कोटिवार अनारक्षित – 15 , आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग 04 , एससी वर्ग 15, एसटी वर्ग के लिये एक ओबीसी 16 , बीसी 05 तथा पिछड़ा वर्ग की महिला के लिये 03 पद आरक्षित है. 35 फीसद महिलाओं के लिये क्षैतिज आरक्षण के तहत 21 पद हैं. एक पद स्वतंत्रता सेनानी के पोते पोती- नाती नातिन के लिये है. दो पद दिव्यांग के लिये है.

Most Popular