Jharkhand Live News – एक मछुआरा जब उफनती नदी में 22 घंटे मौत से लड़ता रहा, पढ़ें पूरी खबर

सिमडेगा के बानो में मछली पकड़ने गया मछुआरा उफनती कोयल में करीब 22 घंटे तक फंसा रहा। चारों तरफ पानी से घिरे इस युवक को काली-अंधेरी रात और बाढ़ का शोर डराता रहा पर उसने हिम्मत नहीं हारी। पूरी रात नदी तट पर जमे ग्रामीणों और अधिकारियों को देखकर उसे हौसला मिलता रहा। सोमवार दोपहर बाद पहुंची एनडीआरएफ ने उसे निकाला। 
     बानो थाना क्षेत्र के रामजोल पाहनटोली निवासी विल्सन मडकी रविवार दोपहर बाद कोयल नदी के मछली पकड़ने गया था। विल्सन के अनुसार नदी में जब वह उतरा था तब पानी कम था। लेकिन, अचानक उफान आ गया। आनन-फानन में वह तैरकर पास की ऊंची चट्टान पर पहुंचा। विल्सन के साथ गए ग्रामीणों ने गांव लौटकर घटना की जानकारी दी। इसके बाद उसे बचाने का प्रयास शुरू हुआ। सूचना पाकर बीडीओ और थाना प्रभारी पहुंचे। दोनों रातभर नदी किनारे जमे रहे। सुबह एसपी डा शम्स तबरेज ने एनडीआरएफ से संपर्क किया। दोपहर 12 बजे के करीब एनडीआरएफ टीम पहुंची। शाम को एसपी ने विल्सन को बचाने की जानकारी दी और  एनडीआरएफ डीजी का आभार जताया।
   
सीएम ने किया ट्वीट : सीएम हेमंत सोरेन ने जानकारी मिलने पर सोमवार सुबह सिमडेगा  डीसी को ट्वीट के माध्यम से विल्सन को मदद पहुंचाने का निर्देश दिया। बाद में डीसी ने विल्सन को सुरक्षित निकाल लिए जाने की जानकारी मुख्यमंत्री को दी।