HomeझारखंडJharkhand Live News - झारखंड सरकार ने भी लागू की पाबंदियां, स्कूल...

Jharkhand Live News – झारखंड सरकार ने भी लागू की पाबंदियां, स्कूल बंद, रात आठ बजे के बाद नहीं खुलेंगे बाजार

राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए आठ से 30 अप्रैल तक सभी स्कूल कॉलेज, जिम और पार्क बंद रहेंगे। सिर्फ 10वीं और 12वीं की ऑफलाइन कक्षायें बोर्ड परीक्षा की तैयारी को देखते हुए अभिभवकों की सहमति से ली जा सकेंगी। परीक्षाओं पर रोक नहीं है। इसके अलावा राज्य में दुकान-बाजार रात आठ बजे के बाद नहीं खुल सकेंगे। धार्मिक सहित सभी तरह के जुलूस, मेला व खेलकूद के आयोजन पर पाबंदी रहेगी। यह फैसला मंगलवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में हुई राज्य आपदा प्रबंध प्राधिकार की बैठक में लिया गया। इस संबंध में मुख्य सचिव ने देर शाम आदेश भी जारी कर दिया। यह आठ से 30 अप्रैल तक लागू होगा।

अनावश्यक जमावड़े पर रोक : सरकार के आदेश के अनुसार अब राज्य में सार्वजनिक स्थानों पर अनावश्यक रूप से पांच से अधिक लोग एकत्रित नहीं हो सकेंगे। बैंक्वेट हॉल शादी-विवाह के अलावा किसी अन्य प्रयोजन के लिए उपयोग में नहीं लाये जा सकेंगे। रेस्तरां बैठने की पचास फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे। धार्मिक और प्रार्थना स्थलों पर क्षमता के 50 प्रतिशत लोग दो गज की दूरी का अनुपालन करने पर ही मौजूद रह सकेंगे। सभी जगह मास्क अनिवार्य होगा साथ ही बिना मास्क के किसी भी भवन में प्रवेश पर रोक होगी। 

मुख्यमंत्री ने बैठक के बाद  मीडिया से कहा कि कोरोना का संक्रमण फिर से बढ़ता दिख रहा है। प्रशासन नजर रख रहा है। राज्य के हालात पर चर्चा करने के बाद जरूरी निर्देश दिए गए हैं। अभी  कुछ पाबंदियां लगाई गई है। बाहर जाने और बाहर से आने वाले सभी लोगों को एहतियात बरतना होगा। सरकार के निर्देशों का सख्ती से पालन ककरना होगा। बैठक में संक्रमण के इस जंग में स्वास्थ्य सेवा की कैसे तैयारी हो इस पर भी चर्चा की गई। बैठक में स्वास्थ्य एवं आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह आदि भी मौजूद थे।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। सभी से अपील है नियमों का सख्ती से पालन करें। पूर्व में संक्रमण को रोकने में लोगों की  महत्वपूर्ण भूमिका रही है। मुझे पूरा विश्वास है हम फिर मिलकर कोरोना संक्रमण को मात देंगे। – हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री

केंद्र को पत्र 
मुख्यमंत्री ने संसाधनों की कमी से जुड़े सवाल पर कहा कि यह लड़ाई नहीं समाधान का वक्त हैयह बात सही है राज्य में कोरोना संक्रमण के अनुपात में राज्य में वैक्सीन की उपलब्धता कम है। इसका अनुपात बढ़ाया जाना चाहिए। इसके लिए वह केंद्र सरकार को पत्र लिखेंगे। इस मसले पर स्वास्थ्य मंत्री और अधिकारियों की केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से मंगलवार को भी वार्ता हुई है। 

माकूल व्यवस्था
मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी निजी अस्पतालों का सर्वे करें ताकि यह पता चल सके कि वहां कैसे-कैसे लोग भर्ती हैं। संक्रमण गंभीर स्थिति नहीं होने पर लोगों को होम आइसोलेशन में डालें। इससे अनावश्यक भीड़ नहीं अस्पतालों में नहीं होगी। अस्पताल के बेड ऐसे लोगों के लिए रखें, जिनकी स्थिति संक्रमण से गंभीर है। 
 

जांच बढ़ेगी
मुख्यमंत्री ने संक्रमण की जांच की गति को और बढ़ाने का निर्देश दिया। प्रतिदिन 35 हजार टेस्ट हो, यह सुनिश्चित होना चाहिए। हर जिला में हो रहे टेस्टिंग पर प्रतिदिन नजर रखें। साथ ही, वैक्सीनेशन की रफ्तार को भी बढ़ाएं। बस संचालकों को थर्मल स्कैनर रखने का आदेश जारी करें, ताकि बस में सफर करने वालों की जांच हो सके। 

ये फैसले
शादी विवाह को छोड़ कर हॉल और खुले स्थान में किसी प्रकार की मंडली जुटाने पर प्रतिबंध रहेगा।
शादी में अधिकतम 200 और अंतिम संस्कार से जुड़े कार्यक्रमों में 50 लोग ही मौजूद रह सकेंगे। 
धार्मिक सहित सभी तरह के जुलूस पर प्रतिबंध  यानि, रामनवमी व सरहुल पर जुलूस नहीं निकलेगा। 
सार्वजनिक स्थानों पर अनावश्यक एक साथ पांच लोगों को एकत्रित होने पर रोक लगा दी गई है।
रेस्तरां में बैठने की पचास फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे
प्रार्थना स्थलों पर क्षमता के 50 फीसदी लोग सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मौजूद रह सकेंगे
सभी जगह मास्क अनिवार्य। बिना मास्क के किसी भी भवन में प्रवेश पर रोक। 
मधुपुर उपचुनाव पर चुनाव आयोग का जारी आदेश ही लागू रखा गया है। 

Most Popular