Bihar : आईपीएस विकास वैभव निशुल्क बीपीएससी की कोचिंग दे रहे, लेकिन भरना होगा यह फॉर्म

bihar

Bihar: शिक्षकों का किया जाएगा गूगल सर्वे, ऐसे कार्य करने की नहीं होगी अनुमति के लोकप्रिय आईपीएस विकास वैभव अपने काम के कारण युवाओं के बीच हमेशा एक चर्चा का विषय रहे है। वो लगातार युवाओं को प्रेरित करते रहे है। हाल ही में उन्होंने ‘लेट्स इंस्पायर बिहार’(Let’s Inspire Bihar) नाम की एक मुहिम शुरू की है। इस मुहीम के जरिए वो बिहार के युवाओं (Bihar Youth) को राज्य के लिए कुछ करने और सोचने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

आईपीएस विकास वैभव अब इसी क्रम में गरीब और वंचित परिवारों से आने वाले बच्चों को मुफ्त में IIT और NEET परीक्षा की तैयारी करवाने की मुहिम शुरू करने जा रहे हैं। फिलहाल बिहार (Bihar)Bihar: बिहार में बनेगा हाईवे जंक्शन, इस एनएच से जाए देश का कोई भी कोना के 80 गरीब बच्चों को फ्री में इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी करवाई जाएगी। विकास वैभव ने बताया कि पहले फेज में राजधानी पटना और भागलपुर में बच्चों के लिए यह व्यवस्था की गई है।

Bihar
IPS Vikas Vaibhav is giving free BPSC coaching

27 फरवरी को परीक्षा आयोजन किया जाएगा

इन दोनों जगह पर 40 बच्चों का हॉस्टल बनकर तैयार है, जहां खाना-पीना और कोचिंग की मुफ्त व्यवस्था होगी। बिहार

के सभी जिलों में 27 फरवरी को इसके लिए परीक्षा का आयोजन होगा जिसमें सफल होने वाले 40-40 बच्चों को इस मुहिम के तहत मुफ्त में प्रवेश परीक्षा की तैयारी करवाई जाएगी।

फॉर्म भरते ही पूरी जानकारी प्राप्त होगी

‘लेट्स इंस्पायर बिहार’ के लोग बच्चों के घर जाकर उनका सत्यापन करेंगे। इस परीक्षा में राज्य का कोई भी छात्र भाग ले सकता है। लेकिन, आर्थिक रूप से कमजोर व प्रतिभावान छात्रों का ही चयन होगा। आईपीएस विकास वैभव ने ट्वीट कर कहा कि हर जिले में इसकी परीक्षा आयोजित होगी। परीक्षा में शामिल होने के लिए छात्रों को सही जानकारी https://forms.gle/dERMzt4wkk2SdS46A पर जा कर भरनी होगी। पूरी जानकारी फॉर्म में भरते ही मुहिम से जुड़े लोग उनके घर जाकर संपर्क कर सकेंगे।
परीक्षा पास कर चयनित होने वाले छात्रों को अनुभवी शिक्षक आईआईटी और नीट की तैयारी करवाएंगे जिसकी मॉनिटरिंग विकास वैभव खुद करेंगे।

आईपीएस विकास वैभव खुद लेंगे परीक्षा

कोचिंग से बच्चों को कितना फायदा हो रहा है, इसके लिए विकास वैभव खुद समय-समय पर क्लास लेंगे और बच्चों की परीक्षा लेंगे। विकास वैभव ने बताया कि यह शिक्षा, समता व उद्यमिता के क्षेत्र में योगदान करने के लिये स्वैच्छिक लोगों का अभियान है, और हम लोग इस मुहिम को और आगे तक लेकर जाएंगे ताकि गरीब से गरीब बच्चा पढ़-लिख कर बिहार और देश के लिए कुछ बेहतर कर सके।