Bihar Live News – रामविलास पासवान के अंतिम दर्शन करने पहुंची बेटी, दामाद व पप्पू यादव को एयरपोर्ट पर रोका

अपने दिवंगत पिता केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का अंतिम दर्शन करने एयरपोर्ट पहुंचीं उनकी बेटी आशा देवी और दामाद अनिल कुमार साधु व पूर्व सांसद पप्पू यादव को बाहर ही रोक दिया गया। इसको लेकर अनिल ने नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने मीडिया से कहा कि बेटी को अपने पिता का दर्शन करने नहीं दिया जा रहा है।  

ठीक उसी वक्त उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी वहां पहुंचे। इस पर अनिल ने उनकी कार रोक ली। इससे वहां अफरातफरी का माहौल हो गया। उपमुख्यमंत्री को सुरक्षा कर्मी अंदर ले गए। उसके बाद अनिल ने वहां हो-हल्ला शुरू कर दिया। वे पत्नी आशा, बेटी अन्नू व बेटे आशीष के साथ वहां धरना पर बैठने की बात कहने लगे। किसी तरह उन्हें समझा-बुझा कर हटाया गया। 

वहीं पूर्व सांसद पप्पू यादव ने आरोप लगाया कि उन्हें रामविलास पासवान के पार्थिव शरीर का दर्शन करने अंदर नहीं जाने दिया गया। कहा कि घंटों इंतजार के बाद भी उन्हें दिवंगत के अंतिम दर्शन से महरूम रखा गया। मैं इससे मर्माहत हूं।  उल्लेखनीय है कि एयरपोर्ट के स्टेट हैंगर में रामविलास पासवान का पार्थिव शरीर दर्शनार्थ रखा गया था। सुरक्षा के मद्देनजर जिला प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई गई सूची के अनुसार ही स्टेट हैंगर में आगंतुकों को प्रवेश दिया जा रहा था। 

पासवान का पार्थिव शरीर पटना पहुंचा, अंत्येष्टि आज

बिहार की राजनीति के कद्दावर राजनेता व अपनों के बीच बड़े साहब कहे जाने वाले केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का पार्थिव शरीर शुक्रवार की शाम वायुसेना के विशेष विमान से पटना लाया गया। दिल्ली से लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान भी अपनी मां रीना पासवान, सांसद पशुपति कुमार पारस सहित अन्य परिजनों के साथ विशेष विमान से पटना आए। दिवंगत केंद्रीय मंत्री का पार्थिव शरीर एयरपोर्ट पहुंचने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव समेत कई नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

देशभर में अपनी खास पहचान रखने वाले रामविलास पासवान के चाहने वाले भी उनके अंतिम दर्शन के लिए एयरपोर्ट पर भारी संख्या में पहुंचे हुए थे। वहां रामविलास पासवान अमर रहे का नारा लगाए जाते रहे। वहां से उनका पार्थिव शरीर विधानसभा लाया गया जहां सीएम, डिप्टी सीएम के अलावा विस अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी और विप के कार्यकारी सभापति अवधेश नारायण सिंह सहित सरकार के कई मंत्री, विधायक व विधान पार्षदों ने श्रद्धासुमन अर्पित किए। इसके बाद उनके पार्थिव शरीर को लोजपा कार्यालय लाया गया जहां पार्टी के नेता-कार्यकर्ता अपने प्रिय नेता को श्रद्धासुमन अर्पित किए। रात को उनका पार्थिव शरीर पटना के एसके पुरी आवास लाया गया। शनिवार को दोपहर डेढ़ बजे दीघा के जनार्दन घाट पर रामविलास पासवान की राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि होगी। चिराग पासवान ही अपने पिता को मुखाग्नि देंगे।