HomeबिहारBihar Live News - पासिंग आउट परेड : गया ओटीए से ...

Bihar Live News – पासिंग आउट परेड : गया ओटीए से 20 सैन्य अधिकारी देश को समर्पित

वे अभिभावक सौभाग्यशाली होते हैं, जिनके पुत्र देश सेवा के लिए समर्पित होते हैं। ये बातें अफसर प्रशिक्षण अकादमी (ओटीए) गया में शनिवार की सुबह पासिंग आउट परेड के दौरान लेफ्टिनेंट जनरल जीएवी रेड्डी शौर्य चक्र, विशिष्ट सेवा मेडल, समादेशक, अफसर प्रशिक्षण अकादमी, गया ने कहीं। मुख्य अतिथि के रूप मे रहे लेफ्टिनेंट जनरल ने ओटीए की 19वीं पासिंग आउट परेड में शामिल सभी जवानों को शुभकामनाएं दीं। उनके गौरवशाली भविष्य की मंगलकामना करते हुए कहा कि आपका भविष्य नि:स्वार्थ और गौरवमयी सेवा से भरा हो। साथ ही कोरोना महामारी के कारण कैडेट के अभिभावक जो इस समारोह में शामिल नहीं हो सके और पासिंग आउट परेड का सीधा प्रसारण देख रहे थे, उन्हें भी शुभकामनाएं दीं।

400 कैडेट के प्रशिक्षण की है क्षमता
लेफ्टिनेंट जनरल ने कहा कि कोरोना काल के कारण इस बार कैडेट प्रशिक्षण के दौरान कम आये। जबकि यहां 400 कैडेट को प्रशिक्षण देने की क्षमता है। इस प्रशिक्षण अवधि के दौरान कोरोना महामारी के बावजूद किसी तरह के परेशानी नहीं हुई।  लेफ्टिनेंट जनरल ने देश के युवाओं को संदेश देते हुये कहा कि देश सेवा के प्रति समर्पित होने के लिए आर्मी से जुड़े। इससे जुड़कर देश सेवा करें। लड़कियों की संख्या सेना में कम रहने पर उन्होंने कहा कि अब जल्द ही सेना में लड़कियां भी अधिकारी के रूप में दिखेंगी। 

मणिपुर के जी केनेडी को  सिल्वर मेडल
मणिपुर के थैवाल का रहने वाला जी केनेडी को एस सी ओ कोर्स में सभी क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन करने पर रजत पदक से सम्मानित किया गया। लेफ्टिनेंट जनरल जी ए वी रेड्डी, निरीक्षण अधिकारी के हाथों सम्मानित होने के बाद जी केनेडी खुशी से झूम उठे। उन्होने कहा कि 14 साल नौकरी करने के बाद आज सैन्य अधिकारी बनने का सपना पुरा हुआ। प्रशिक्षण के दौरान ओवर ऑल बेस्ट प्रदर्शन करने पर मिले यह सम्मान यह जीवन का सबसे यादगार दिन रहेगा। असम राइफल में 14 साल राइफल नौकरी के बाद वाहां लोग उत्साहित करते रहे और तैयारी की जिसका परिणाम आज असिस्टेंट कमांडेंट बनकर मिला है। उन्होंने कहा कि उनका छह साल का एक बच्चा है जिसे पिछले छह माह से मिलने नहीं गये हैं।

Most Popular