41 साल बाद राष्ट्रीय खेल हॉकी से आई अच्छी ख़बर। पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक में जीता कांस्य

लगभग 4 दशक के बाद राष्ट्रीय खेल हॉकी देश को एक अच्छी खबर दिया। टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने गई पुरुष हॉकी टीम ने कांस्य पदक जीता है। इससे पहले मास्को ओलंपिक 1980 में भारत ने हॉकी में गोल्ड जीता था। आज 41 साल बाद भारत मनी को 5-4 से हराने के बाद कांस्य पदक पर कब्जा किया।

दूसरे क्वार्टर में 3-1 से पिछड़ने के भारत ने जबरदस्त वापसी की और लगातार 4 गोल दागे। भारत के लिए सिमरनजीत सिंह ने 17वें और 34वें, हार्दिक सिंह ने 27वें, हरमनप्रीत सिंह ने 29वें और रुपिंदर पाल सिंह ने 31वें मिनट में गोल किया। हालांकि चौथे क्वार्टर में जर्मनी ने एक और गोल दागा और स्कोर 5-4 कर दिया था। भारत की तरफ से सिमरनजीत सिंह ने पेनाल्टी कॉर्नर से आखिरी गोल करके भारत को जीत दिलाई।

गौरतलब हो कि भारत अब तक पुरुष हॉकी में आठ स्वर्ण पदक जीत चुका है। भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 1928, 1932, 1936, 1948, 1952, 1956, 1964 और 1980 के ओलंपिक गेम्स में स्वर्ण पदक जीता है।

इसके अलावा 1960 और 1968 के ओलंपिक में सिल्वर तथा 1972 और 2021 के टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीत चुका है।

भारतीय टीम के इस शानदार प्रदर्शन से सभी काफी खुश हैं। पूरे देश में जश्न का माहौल है। हरियाणा पंजाब में लोग के बाहर निकल कर पटाखे और आतिशबाजी ओं के साथ जश्न मना रहे हैं। रेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने टीम की इस जीत पर उन्हें बधाई दी है