हेमंत सोरेन का निर्देश, 31 मार्च तक सभी किसानों काे दें किसान क्रेडिट कार्ड

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गुरुवार को प्रोजेक्ट भवन सभागार में आठ घंटे तक 17 विभागों के राज्य व केंद्र प्रायोजित योजनाओं की समीक्षा की. उन्होंने सुस्त पड़ी योजनाओं में तेजी लाने का निर्देश दिया. कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने किसान क्रेडिट कार्ड व पशुधन योजना की प्रगति पर नाराजगी जतायी.

उन्होंने कहा कि हर किसान के हाथ में किसान क्रेडिट कार्ड होना चाहिए. 31 मार्च 2022 तक सभी किसानों को केसीसी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें. मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग की समीक्षा करते हुए सोलर पावर प्लांट को बढ़ावा देने का निर्देश दिया.

15 अक्तूबर तक आवास मुहैया करायें :

मुख्यमंत्री ने 15 अक्तूबर तक सभी जरूरतमंद लाभुकों को आवास योजना के तहत घर देने का निर्देश दिया. साथ ही हड़िया बेचनेवाली महिलाओं के लिए आजीविका के अन्य साधन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया. पर्व के पूर्व ही धोती-साड़ी योजना के तहत वस्त्र वितरित करने काे कहा. उन्होंने छात्रवृत्ति योजना के तहत दायरा बढ़ाने की बात कही.

उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा रोजगार देना सरकार की प्राथमिकता है. मुख्यमंत्री ने दाखिल-खारिज के मामलों को ड्राइव चला कर निष्पादित करने का निर्देश दिया. सीएम ने भू-अर्जन से संबंधित मामलों में मुआवजे का वितरण सही तरीके से करने का निर्देश दिया. रैयतों के बीच शिविर लगाकर मुआवजा वितरित करने का निर्देश दिया.

इस मैराथन बैठक में सीएम ने कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायती राज, खाद्य आपूर्ति, स्वास्थ्य, भू-राजस्व, कल्याण, ऊर्जा, महिला व बाल विकास, स्कूली शिक्षा, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, गृह विभाग, श्रम नियोजन, पथ निर्माण, कार्मिक, विधि व गृह विभाग की समीक्षा की. बैठक में मुख्य सचिव समेत सभी जिलों के डीसी, डीडीसी भी मौजूद थे.