सावधान हो जाइये ! बिहार में 14 दिसंबर के बाद सिंगल यूज प्लास्टिक और थर्मोकोल की बिक्री – भंडारण किया तो हो सकती है 5 साल की जेल

पॉलिथीन बैग, थर्माकोल पेपर और सिंगल यूज प्लास्टिक की वजह से प्रदूषण काफी बढ़ रहा है। देखते हुए बिहार सरकार के पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग ने 14 दिसंबर 2021 से प्लास्टिक पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया। अब इन सामानों की खरीद बिक्री पर पूरी तरह से रोक रहेगी।

पर्यावरण विभाग ने बताया है कि राज्य में सिंगल यूज प्लास्टिक के विनिर्माण, परिवहन, भंडारण विक्रय एवं उपयोग पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है। इसका अनुपालन नहीं करने वालों पर भारतीय दंड संहिता के तहत कार्रवाई की जाएगी।

ये चीजें रहेंगी बैन।

  • प्लास्टिक के कप, कटोरी, कांटा, चम्मच स्ट्रॉ।
  • थर्मोकोल के कप, ग्लास, प्लेट, कटोरी।
  • प्लास्टिक बैग एवं बैनर।
  • प्लास्टिक परत वाले कागज के प्लेट।
  • एवं पानी के पाउच।

पर्यावरण विभाग की ओर से जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि अगर इन नियमों का कोई व्यक्ति उल्लंघन करता पाया गया, तो उसके खिलाफ पर्यावरण संरक्षण अधिनियम (1986) की धारा 15 के तहत कार्रवाई की जाएगी। इन नियमों का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों पर विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी 1 से लेकर 5 साल तक की जेल हो सकती है।