Homeबिहारसब-वे टनल का एंट्री-एग्जिट द्वार तीन जगहों में होगा, जानिए किन किन...

सब-वे टनल का एंट्री-एग्जिट द्वार तीन जगहों में होगा, जानिए किन किन जगहों से आप इसमें प्रवेश कर पाएंगे…

स्मार्ट सिटी योजना के तहत राजधानी के स्वरूप को बदला जा रहा है। शहर के सड़कों पर लोगों को काफी जाम की समस्या से जूझना पड़ता है। खासकर पटना जंक्शन वाले इलाके में दूसरे शहर से राहगीरों को काफी समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसे में पटना जंक्शन के समीप सबवे टनल का निर्माण किया जा रहा है। बता दे कि 440 मीटर लंबे इस सपने में एस्कलेटर के साथ ट्रेवलेटर दोनो की सुविधा होगी।

इन जगहों में होगा एंट्री-एग्जिट का द्वार             इस सबवे का प्रस्तावित मॉडल में एंट्री और एग्जिट का डिज़ाइन फाइनल कर लिया गया है। इस आधुनिक सबवे में प्रवेश व निकास के लिए तीन-तीन द्वार बनाए जाएंगे। जिसमें एक जीपीओ गोलंबर के पास बकरी बाजार में, दूसरा बुद्ध स्मृति पार्क के पास मल्टी लेवल पार्किंग में और तीसरा पटना जंक्शन के पार्किंग परिसर में होगा।

सब-वे की कुल लंबाई 440 मीटर है।               बताया जा रहा है कि इस प्रोजेक्‍ट को पूरा होने में करीब दो साल का समय लगेगा। इसका काम बकरी बाजार वाले हिस्से से शुरू भी हाे गया है। अभी केवल ऊपरी हिस्से में ही करीब 100 मीटर लंबे पैच का काम दो लेन में शुरू हुआ है। सब-वे की कुल लंबाई 440 मीटर है। मानसून के बाद अंडरग्राउंड सब-वे निर्माण के लिए खुदाई होगी। पटना जंक्शन से मल्टीलेवल पार्किंग तक का 330 मीटर का भाग अंडरग्राउंड रहेगा, जिसका काम अभी शुरू नहीं हो सका है। मल्टीलेवल पार्किंग से बकरी बाजार तक 110 मीटर सतह पर ही काम चल रहा है।

लोगों को एयरपोर्ट जैसी ट्रेवलेटर की सुविधा होगी   बता दें कि इस सब-वे में ट्रैवलेटर की सुविधा भी लोगों को मिलेगी। देश के कुछ चुनिंदा एयरपोर्ट पर ट्रैवलेेटर की सुविधा है, जिसपर खड़े होकर यात्री एक से दूसरे स्थान पर जा सकते हैं। इसके अलावा सब-वे में दो लेन होगी। एक में ट्रैवलर ही सुविधा होगी। वहीं, दूसरी स्थायी लेन भी बनेगी। इसके लिए करीब 68 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। सब-वे में एसी, पावर बैकअप, ड्रेनज, अग्निशमन, वैंटिलेशन और रैंप की सुविधा भी होगी।

Most Popular