Homeबिहारवाह रे बिहार, पुल के बाद अब पंचायत भवन ही चुरा ले...

वाह रे बिहार, पुल के बाद अब पंचायत भवन ही चुरा ले गए चोर 15 साल पहले ही बना था पंचायत भवन..

बिहार में इन दिनों सरकारी भवन हो या रेलवे की पटरी बेचने का ट्रेंड चला हुआ है। प्रदेश के पूर्णिया कोर्ट स्टेशन से रेल इंजन और रोहतास जिले से लोहे के पुल चोरी की घटना ने सबको हैरान कर दिया था। इसके बाद तो बिहार में सरकारी संपत्ति को बेचने का सिलसिला ही शुरू हो गया। कई जगहों पर लोहे के पुल बेचे गए तो कहीं अस्पताल और स्कूल। लेकिन इस बार तो हद हो गई। बिहार के राजस्व मंत्री रामसूरत राय के विधानसभा क्षेत्र में एक सरकारी पंचायत भवन को तोड़कर बेचने का सनसनीखेज मामला सामने आया है।

इमरात की एक-एक ईंट बेच दिया गया
बता दे कि बिहार के मुजफ्फरपुर के औराई प्रखंड में औराई पंचायत भवन को बिना किसी सरकारी आदेश के बेच दिया गया। आरोप है कि मुखिया और पंचायत सचिव की मिलीभगत से इस काम को अंजाम दिया गया। दोनों ने मिलकर भवन को जेसीबी से तोड़वाया और इमारत की एक-एक ईंट को बेचने का काम शुरू कर दिया।

15 साल पहले ही बना था औराई पंचायत भवन
बताया जा रहा है कि औराई पंचायत भवन 15 साल पहले बनाया गया था, लेकिन भवन निर्माण का काम पूरा नहीं हो सका था। निर्माण में अनियमितता के कारण एक कर्मचारी को जेल भी जाना पड़ा था। 15 साल बाद उसी भवन को मुखिया और पंचायत सचिव ने जेसीबी से तोड़वाकर भवन के मलबे को बेच दिया। पंचायत भवन को तोड़ने का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

इससे पहले 60 फ़ीट लम्बा पुल हुआ चोरी
आपको बता दें कि इससे पहले बिहार के रोहतास जिले के नासरीगंज स्थित आदर्श ग्राम अमियावर में 60 फीट लंबा पुल चोरी कर लिया गया था। जिसके बाद से मामले को लेकर विपक्ष सरकार पर लगातार हमलावर था और सरकार की खूब किरकिरी हुई थी।

Most Popular