वाराणसी से औरंगाबाद होते हुए, झारखंड सीमा तक बनेगी बिहार की पहली सिक्स लेन सड़क

भारत माला प्रोजेक्ट के तहत केंद्र सरकार देश के रोड इंफ्रास्ट्रक्चर की कायापलट करने जा रही है। पूरे देश में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। इसी प्रोजेक्ट के तहत अब उत्तर प्रदेश के वाराणसी से प्रदेश के सासाराम और औरंगाबाद होते हुए झारखंड सीमा तक बिहार की पहली सिक्स लेन सड़क बनेगी। अब इसके निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। लंबी अवधि से इस सड़क के निर्माण का मामला अटका हुआ था। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआइ) के क्षेत्रीय अधिकारी चंदन वत्स ने जानकारी दी कि ऐसी संभावना है कि दीपावली के समय इस प्रोजेक्ट पर काम आरंभ हो। पूर्व में यह मामला कई तरह के विवाद में फंसा था। जिस निर्माण एजेंसी के साथ इस प्रोजेक्ट को लेकर विवाद था उसका सेटेलमेंट भी आज कर लिया गया।

इसे अलग-अलग चरणों में बनाया जाएगा। पहले चरण में एनएच -2 के 30 किलोमीटर सड़क को सिक्स लेन में विकसित किया जाएगा। इस पर कुल 607 करोड का खर्च आएगा। इसे 730 दिनों में पूरा किया जाना है।

दूसरे चरण में औरंगाबाद से झारखंड बॉर्डर के चोरदाहा तक 40 किलोमीटर सड़क को सिक्स लेन में तब्दील किया जाएगा। इस पर लगभग ₹759 का खर्च आएगा। और इसे भेज 730 दिनों में पूरा कर लिया जाएगा। इस की निविदा 29 सितंबर से आमंत्रित की जाएगी। आपको बता दें कि वाराणसी से औरंगाबाद होते हुए झारखंड सीमा तक पहले से ही एक फोरलेन सड़क है जो राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या दो है। इसी को सिक्स लेन में विकसित किया जा रहा है।