रेलवे ने निकाला 58 वंदे भारत ट्रेनों का टेंडर, अगले 3 साल में इतने वंदे भारत ट्रेन चलाने का है लक्ष्य

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने नई ट्रेनों की निर्माण प्रक्रिया तेज कर दी है। अगले 75 हफ्तों में 75 नए वंदे भारत एक्सप्रेस को पूरे देश में चलाने की प्रधानमंत्री की योजना है। इन ट्रेनों का निर्माण प्राइवेट कंपनियां अपने खुद के निवेश से अपने स्तर से करेंगी लेकिन इनका निर्माण रेलवे की ही तीनों कोच फैक्टरियों रायबरेली, कपूरथला और आईसीएफ़ चेन्नई में करना होगा।

बता दें कि 44 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों के निर्माण का टेंडर पहले ही दिया जा चुका है। अब फिर से 58 नई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन निर्माण का टेंडर जारी कर दिया गया है। इसकी अंतिम तारीख 20 अक्तूबर है।

रेल मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि मार्च 2024 तक कुल 102 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है। 44 ट्रेनों के निर्माण के लिए जनवरी माह में टेंडर जारी किया गया था। जबकि 58 नई वंदे भारत निर्माण के लिए 28 अगस्त की दोपहर टेंडर जारी कर दिए गए। 30 वंदे भारत ट्रेन आईसीएफ चेन्नई और 14-14 ट्रेन एमसीएफ रायबरेली व आरसीएफ कपूरथला में बनेंगे। रेल मंत्री ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि मार्च 2024 तक 102 वंदे भारत ट्रेनों के निर्माण कार्य को पूरा कर लिया जाए।

बता दें कि इस टेंडर के दस्तावेजों में बदलाव किए गए हैं जिससे घरेलू कंपनियों को भी बोली लगाने का मौका दिया जाए। सरकार सभी वंदे भारत एक्सप्रेस का निर्माण मेक इन इंडिया के तहत करना चाहती है। बता दें कि वंदे भारत एक्सप्रेस सेमी लग्जरियस ट्रेन होगी तथा इसमें कई आधुनिक सुविधाएं होंगी।