Homeबिहारराज्य के ये सभी नेशनल हाईवे के निर्माण में आ रही है...

राज्य के ये सभी नेशनल हाईवे के निर्माण में आ रही है बाधा, क्लीयरेंस मिलते ही शुरू होगा निर्माण कार्य, जानिए कब तक निर्माण होगी शुरू…

राज्य में कई नेशनल हाईवे का निर्माण जारी है तो कई परियोजना का कार्य में बाधा आ रही है ऐसे में राज्य में चार ऐसे राजमार्ग हैं, जिसका कार्य फॉरेस्ट क्लीयरेंस के इंतजार में अटकी हुई है। एनएचएआई ने राज्य के पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के अधिकारियों को पत्र लिख कर फॉरेस्ट क्लीयरेंस मांगा है। इसके मिल जाने के बाद इन सड़क परियाेजनाओं का निर्माण अगले साल तक पूरा हो जायेगा।

इस हाईवे का कार्य में बाधा आ रही है
मिली जानकारी के अनुसार छपरा में एनएच-331 सड़क एनएच-31 के जंक्शन से शुरू होकर बनियापुर को जोड़ती है। यह सड़क एनएच-27 के पास मुहम्मदपुर तक जाती है। करीब 65 किमी लंबाई की इस सड़क में करीब 15 किमी की लंबाई में फॉरेस्ट क्लीयरेंस के लिए अक्तूबर 2021 में आवेदन दिया गया था. इस सड़क की चौड़ाई बढ़ा कर दो लेन पेव्ड सोल्डर के साथ निर्माण करना है। बिक्रमगंज-दावाथ-मलियाबादनवानगर-डुमरांव एनएच-120 की लंबाई करीब 240 किमी है। इस सड़क को बनाने में करीब 39 किमी के लिए फॉरेस्ट क्लीयरेंस की आवश्यकता थी। इसके लिए अप्रैल 2022 में आवेदन दिया गया था, इसका स्टेज-1 का क्लीयरेंस अभी नहीं मिला है।

आवागमन में होगी सुविधा
छपरा में एनएच-331 सड़क एनएच-31 के जंक्शन से शुरू होकर बनियापुर को जोड़ती है। यह सड़क एनएच-27 के पास मुहम्मदपुर तक जाती है। करीब 65 किमी लंबाई की इस सड़क में करीब 15 किमी की लंबाई में फॉरेस्ट क्लीयरेंस के लिए अक्तूबर 2021 में आवेदन दिया गया था। इस सड़क की चौड़ाई बढ़ा कर दो लेन पेव्ड सोल्डर के साथ निर्माण करना है। बिक्रमगंज-दावाथ-मलियाबादनवानगर-डुमरांव एनएच-120 की लंबाई करीब 240 किमी है। इस सड़क को बनाने में करीब 39 किमी के लिए फॉरेस्ट क्लीयरेंस की आवश्यकता थी। इसके लिए अप्रैल 2022 में आवेदन दिया गया था, इसका स्टेज-1 का क्लीयरेंस अभी नहीं मिला है।

Most Popular