Homeझारखंडराजधानी रांची में बन रही पंडाल में मिलेगी 'आत्मनिर्भर भारत' की झलक,...

राजधानी रांची में बन रही पंडाल में मिलेगी ‘आत्मनिर्भर भारत’ की झलक, जानें विस्तार से

आज से दुर्गा पूजा की शुरुआत हो गई है. श्रधालुओं में भी काफी उत्साह देखा जा रह है. इसकी तैयारी में तरह-तरह के पंडाल व प्रतिमा बनाई जा रही है. इस बीच आपको बता दें स्टील अथारिटी आफ इंडिया लिमिटेड (सेल) इस साल अपनी स्थापना का स्वर्ण जयंती समारोह मना रहा है. प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत अभियान को आगे बढ़ाने में सेल महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. इस अभियान को कंपनी से जुड़े लोग और जो पूजा समिति से भी जुड़े हैं वे पूजा पंडाल में भी दर्शाने का निर्णय लिया है. इस वर्ष पूजा को लेकर लोगों में काफी उत्साह है.

लौह एवं इस्पात उद्योग की झांकी मुख्य आकर्षण का केंद्र रहेगा
सेल सैटेलाइट टाउनशिप, धुर्वा, रांची इस वर्ष अपनी संस्थापना का 31 वां वर्ष मना रहा है. द्विवर्षीय कोरोना संतप्त काल के पश्चात एक खास अंदाज में इस बार पूजा का आयोजन हो रहा है. इस संबंध में संजय परीदा (मुख्य महाप्रबंधक) की अध्यक्षता में पूजा समिति की महत्वपूर्ण बैठक भी हुई.

बी.के.दास ने सदस्यों एवं सेल कर्मचारियों को बताया कि ‘देश का लौह एवं इस्पात उद्योग की झांकी’, इस बार दर्शनार्थियों का मुख्य आकर्षण केंद्र रहेगा. सेल का हर इस्पात संयंत्र जैसे बोकारो, भिलाई, राउरकेला, दुर्गापुर, बर्नपुर इत्यादि ‘आत्मनिर्भर भारत’ में अपने अपने योगदान का प्रस्तुतीकरण करेगा. इसके अतिरिक्त केंद्रीय विपणन संगठन भी दर्शनार्थियों को देश के नवीनतम इस्पात उत्पादों से अवगत कराएगा.

सप्तमी से होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम
पूजा के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम पूरे दमखम के साथ अतिथियों का स्वागत करेंगे. इनमे महासप्तमी को महिलाओं का डांडिया, कैंडल एवं शंख प्रतियोगिता, महानवमी को ढाक एवं धुनुची प्रतिस्पर्धा, रात्री में जागरण एवं झांकी आकर्षण का मुख्य केंद्र होंगी.

20 लाख रुपये से अधिक खर्च होने का है अनुमान
इस बार पूजा पर 20 लाख रुपये से अधिक की राशि खर्च होने का अनुमान है. पंडाल को विशेष ढंग से सजाया जा रहा है. तीन दिनों तक भोग प्रसाद का वितरण भी किया जाएगा. महासप्तमी को पूरी, सब्जी, महाअष्टमी को पलाव और सब्जी व महानवमी को खिचड़ी और सब्जी का वितरण किया जाएगा. यहां का भोग प्रसाद ग्रहण करने के लिए दूर दूर से लोग आते हैं.

कई राज्यों के व्यंजन का ले सकेंगे आनंद
सेल समिति का दुर्गा पूजा जश्न हर वर्ष स्वादिष्ट भोजन के स्टालों के कारण मशहूर रहता है. समिति के सदस्यगण इस वर्ष उन इंतजाम की बारीकियों में जुटी है जिससे भक्तगण अंपने परिवार के साथ बैठकर ओडिशा, बंगाल, छत्तीसगढ़ एवं झारखंडी व्यंजनों का लुत्फ़ उठा सकें.

परिसर को स्वच्छ रखने तथा कार पार्किंग की विशेष सुविधा पर जोर दिया जा रहा है. पंडाल का कार्य जोरों पर चल रहा है. मां दुर्गा की मूर्ति रांची के प्रसिद्ध मूर्तिकार श्री अजय पाल द्वारा तैयार की जा रही है.

पूजा समिति के ये हैं सदस्यगण…

  • अध्यक्ष:संजय परिदा,
  • महासचिव:बिष्णु कुमार दास, बिजॉय कुमार दास,
  • कोषाध्यक्ष :मिथिलेश कुमार सिंह,
  • समिति के संयोजक और सदस्य:एस के ठाकुर, आनंद त्रिवेदी, आर आर चौधरी, डॉ बसंत साहू, बबलू घोष, अबधेश प्रसाद, सुशील कुमार, आलोक मिश्रा, अजय प्रसाद, उज्जवल भास्कर, संजय गुप्ता, मनोज कुमार सिंह, एस के मजूमदार, श्रीप्रकाश, सचिन कुमार, सुरेश प्रसाद, अनिकेत आनंद, डॉ सुशांत रथ, शिबाशीष मुखर्जी, आलोक कुमार, मिलिंद वर्मा, अशोक झा, रवींद्र दुबे, आनंद तिवारी, शैलेश भारती, कैप्टन आर के झा, रत्नेश राम, मनीष माधव, एच एन सिंह,, एम.आर.मिश्र, विजय कुमार, रामकिशन, उज्जवल मंडल, सुरेश प्रसाद, अनिकेत आनंद, अक्षय दुबे,सोमनाथ कुमार, विकास कुमार, राजू जयसवाल, मनदीप यादव, पंकज प्रिय,आर.के झा, पंकज नायक, जे.पी. कुमार, आश्रम कुमार, योगेश पटेल, सुभाष, प्रिंस, राज, हैं.

 

Most Popular