रांची स्मार्ट सिटी के अंदर ही राज्य सरकार का मंत्रालय और सभी मंत्रियों का आवास बनेगा

रांची शहर को एजुकेशनल हब एवं मेडिकल हब के रूप में विकसित करना राज्य सरकार की प्राथमिकता है. इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए रांची स्मार्ट सिटी में शैक्षणिक संस्थान एवं मेडिकल सेक्टर को विकसित करने की प्राथमिकता दी गई है. रांची शैक्षणिक राजधानी के रूप में विकसित हो, इसके लिए रांची स्मार्ट सिटी के अंदर 21% भूमि शैक्षणिक संस्थानों के लिए रखी गई है. साथ ही अभी हाल में ही लॉन्च की गई नई उद्योग नीति के तहत मेडिकल सेक्टर के निर्माण को ध्यान में रखते हुए आकर्षक नीति बनाई गई है. ये बातें झारखंड के नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे ने कहीं. वे आज रांची स्मार्ट सिटी कॉरपोरेशन लिमिटेड द्वारा होटल बीएनआर चाणक्य में आयोजित इन्वेस्टर्स मीट 2021 में बोल रहे थे.

रांची स्मार्ट सिटी कॉरपोरेशन के सीईओ अमित कुमार ने कहा है कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का स्पष्ट निर्देश है कि रांची को झारखंड के लोगों की आकांक्षाओं एवं आशाओं के अनुरूप बनाया जाए. इसलिए यहां पर हर आय वर्ग के लोगों के लिए आवासीय फ्लैट निर्माण को ध्यान में रखते हुए लैंड प्लॉट चिन्हित किए गए हैं. उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी में रोड, ड्रेनेज, यूटिलिटी सर्विसेज, जलापूर्ति, विद्युत आपूर्ति विश्व स्तरीय होगी. विश्व के टॉप 100 यूनिवर्सिटी का कोई भी एक विश्वविद्यालय अगर दिलचस्पी दिखाता है तो उसे 1 रुपये में 25 एकड़ जमीन उपलब्ध कराई जाएगी. किसी भी प्लॉट के 400 मीटर की दूरी के अंदर ही पब्लिक ट्रांसपोर्ट उपलब्ध होगा. निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए जीआईएस सब स्टेशन का निर्माण हो रहा है. कोई भी तार स्मार्ट सिटी के अंदर ओवरहेड वायर के रूप में नहीं दिखाई देगा. सभी यूटिलिटी सर्विसेज यूटिलिटी डक्ट के अंदर से होकर हर प्लॉट तक पहुंचेगा. उन्होंने कहा कि ई ऑक्शन प्रक्रिया में शामिल होने से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए किसी भी एजेंसी के प्रतिनिधि स्मार्ट सिटी कारपोरेशन की वेबसाइट rsccl.in और eauction.rsccl.in पर विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

इससे पहले कार्यक्रम में स्मार्ट सिटी के महाप्रबंधक राकेश कुमार नंदकुलयार ने पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के जरिए स्मार्ट सिटी योजना की पूरी जानकारी निवेशकों के समक्ष रखी और आश्वस्त किया कि अगर कोई तकनीकी दिक्कत होती है तो जगह-जगह पर स्मार्ट सिटी की ओर से आपको फैसिलिटेट किया जाएगा. प्लॉट्स की ई नीलामी के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार है और इस ऑक्शन में दुनिया में कहीं भी बैठा व्यक्ति वहीं से भाग ले सकता है. पारदर्शिता का भी पूरा ख्याल रखा गया है. इसके साथ ही ई ऑक्शन से जुड़ी जानकारी लोग कॉरपोरेशन के वेबसाइट rsccl.in और eauction.rsccl.in पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं.