रांची से तुपुदाना तक चलेंगी सिटी बसें, जानिए कितना लगेगा किराया

झारखंड की राजधानी रांची से तुपुदाना तक की यात्रा करने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी है. अब लोगों को ऑटोरिक्‍शा के महंगे किराये से मुक्ति मिल सकती है. रांची नगर निगम ने प्रदेश की राजधानी के साथ ही आसपास के इलाकों में भी सिटी बस चलाने पर सहमति दे दी है. नगर निगम राजधानी रांची में जाम की समस्‍या को दूर करने और पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए सिटी बसों का परिचालन आसपास के क्षेत्रों में करने को तैयार है. अब रांची से तुपुदाना तक सिटी बसें चलाई जाएंगी. इससे दोहरा फायदा होगा. एक ओर जहां निगम के राजस्‍व में वृद्धि होगी, वहीं दूसरी ओर आमलोगों को भी ऑटोरिक्‍शा के महंगे किराए से छुटकारा मिलेगा.

तुपुदाना तक सिटी बसें चलाने से सबसे ज्‍यादा फायदा डेली पैसेंजर को होगा. निगम ने रांची से तुपुदाना तक के लिए सिटी बसों का किराया भी तय कर दिया है. अब लोग महज 20 रुपये में रांची से तुपुदाना तक की यात्रा कर सकेंगे. फिलहाल रांची से तुपुदाना आने-जाने के लिए लोगों को ऑटो का सहारा लेना पड़ता है. इसके लिए ज्‍यादा किराया भी देना पड़ता है. लेकिन, सिटी बसों का किराया ऑटो के मुकाबले काफी कम होगा. सभी बसों में किराया सूची भी लगा दी गई है, ताकि कोई उनसे ज्‍यादा किराया न वसूल कर सके. यदि कोई बस कंडक्‍टर निर्धारित किराया से ज्‍यादा राशि वसूलता है तो इसकी शिकायत नगर निगम के कंट्रोल रूम की ओर से जारी टेलीफोन नंबर 0651-2200011 पर कॉल कर की जा सकती है.

रांची नगर निगम ने एमजी रोड के सैंकड़ों ई-रिक्शा चालकों को जाम का हवाला देकर हटाते हुए सिटी बस सेवा की की शुरुआत की थी. कचहरी चौक से राजेंद्र चौक के लिए 5 रुपए किराया तय किया गया था, लेकिन निगम के अधिकारियों ने बिना सूचना के ही बसों का किराया बढ़ा दिया. अब मात्र 5 किमी के सफर के लिए ही 5 रुपए लिया जाने लगा है. 12 किमी के लिए 10 रुपए, 20 किमी तक के लिए 15 रुपए और 20 किमी से अधिक दूरी के लिए 20 रुपए बतौर किराया देना होगा.

बता दें कि राजधानी रांची के आसपास के इलाकों से सिटी बसें चलाने की मांग लगातार की जा रही थी. अब रांची नगर निगम ने आमलोगों की मांग को संज्ञान में लेते हुए इस पर अमल करना शुरू किया है. निगम के फैसले से आमलोगों को काफी सहूलियत होने की उम्‍मीद है. गौरतलब है कि रांची से लगते इलाकों में जाने के लिए ऑटोरिक्‍शा वाले काफी ज्‍यादा किराया वसूल करते हैं. सिटी बसों के चलने से न केवल किराये के तौर पर कम पैसे खर्च होंगे, बल्कि यात्रा भी अपेक्षाकृत ज्‍यादा आराम से हो सकेगी.