रांची समेत झारखण्ड के इन जिलों में आज भी हो सकती है बारिश, देखिये अपने ज़िला का हाल

मंगलवार की सुबह राजधानी रांची में आंशिक रूप से बादल छाए हुए हैं। इसके साथ दक्षिण पश्चिम से 13 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हल्की हवा चल रही है। शहर में आद्रता का स्तर 93 प्रतिशत तक है। हालांकि हल्की हवा के कारण लोगों को ज्यादा उमस का सामना नहीं करना पड़ रहा है। राज्य के मौसम पूर्वानुमान में बताया गया है कि राज्य में मानसून पूरी तरह से सक्रिय है। ऐसे में आज को राजधानी रांची समेत राज्य के अन्य जिलों में भी भारी बारिश होने की संभावना है।

पिछले 24 घंटे में स्थिति

झारखंड में पिछले 24 घंटे के अंदर सबसे ज्यादा लोहरदगा में 108.0 मिमी बारिश हुई। इसके अलावा रांची में 107.8, जमशेदपुर में 80.4, मैथन में 59.2, चांडिल में 53.0, हजारीबाग में 46.0 और लातेहार में 41.8 मिमी बारिश हुई।

इन जिलों में होगी बारिश

मौसम विज्ञानी अभिषेक आनंद ने बताया कि रांची, खूंटी, बोकारो, रामगढ़, हजारीबाग, गुमला, पलामू, चतरा, गढ़वा, कोडरमा, और लातेहार जिलों में भारी बारिश की संभावना है। इसके साथ ही इन जिलों में मेघ गर्जन के साथ वज्रपात की भी संभावना है। मानसून का टर्फ लाइन राज्य से होकर से गुजर रहा है। ऐसे में अगले 12 अगस्त तक राज्य के विभिन्न हिस्सों में बारिश होने की संभावना है। वहीं मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। हालांकि इसका असर अभी राज्य के मौसम पर देखने के लिए नहीं मिल रहा है। अभी दो से तीन दिनों में राज्य के औसत अधिकतम और न्यूनतम तापमान में कोई बड़ा बदलाव होने की संभावना नहीं है।

जून से अभी तक राज्य में 650.8 मिमी. बारिश हुई

राज्य में 69 दिन में 650.8 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई है। 1 जून से 8 अगस्त के बीच सामान्य वर्षापात 607.8 मिमी की तुलना में वास्तविक वर्षापात 650.8 मिमी है। इस अवधि में सबसे ज्यादा जामताड़ा में 1048.7 मिमी, लोहरदगा में 1021.1 और हजारीबाग में 832.7 मिमी हुई है। सबसे कम बारिश गुमला में 661.1 मिमी की तुलना में 464.6 मिमी और सिमडेगा में 773.8 मिमी की तुलना में 580.0 मिमी बारिश हुई है। कम बारिश वाले इलाके पलामू में भी अभी तक सामान्य वर्षापात 480.7 मिमी की तुलना में 552.7 मिमी बारिश हो चुकी है। दक्षिण-पूर्व मानसून का आगमन झारखंड में 12 जून को हुआ था। इसके पहले सप्ताह कई जगह पर भारी बारिश हुई थी