रांची की छात्रा ने 15 मंजिल से लगाई छलांग, सुसाइड नोट में लिखा- मैं अपनी जिंदगी से ऊब चुकी हूं

रांची के लालपुर चौक स्थित एसजी एक्जोटिक बिल्डिंग की 15वीं मंजिल से कूद कर 18 वर्षीय छात्रा विनिता ने गुरुवार को अपनी जान दे दी। परिजनों ने जहां इसे हत्या मान कर संदिग्ध व्यक्तियों के खिलाफ धारा 302 के तहत मामला दर्ज कराया है। पुलिस इसे आत्महत्या मान रही है।

इस बीच विनिता के बैग से एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें लिखा है- ‘हम क्या हैं ये मेरा भगवान जानता है। हमको अपने भगवान के पास जाना है। मेरा दिमाग मेरा साथ नहीं दे रहा है और चीजों को क्रिएट कर रहे हैं जो नहीं है, वो भी। और हम कुछ भी बोल रहे हैं। मम्मी और पापा सॉरी। हम चाहते हैं पढ़ना, लेकिन मेरा दिमाग मेरा साथ नहीं दे रहा है। कोई अंदर से बोलता है कि मर जाओ।’

परिजनों का आरोप- कुछ गलत हुआ है

विनिता के पिता विनोद महतो रिम्स के पैथोलॉजी डिपार्टमेंट में फोर्थ ग्रेड कर्मचारी हैं। उनका कहना है कि बेटी के साथ कुल गलत हुआ है। उसको किसी ने ऊपर से फेंक दिया। मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।

इंस्पेक्टर ने कहा- बगल की बिल्डिंग से एक व्यक्ति ने कूदते देखा

लालपुर इंस्पेक्टर ने कहा कि सुसाइड नोट पढ़कर मामला खुदकुशी का लगता है। वहीं, बगल की बिल्डिंग से एक व्यक्ति ने छात्रा को कूदते देखा है, जिसका बयान दर्ज किया गया है। हालांकि, परिजनों की शिकायत के आधार पर 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

फॉर्म भरने के लिए घर से निकली थी

विनिता के बड़े भाई विनय का कहना है कि वह स्कॉलरशिप का फॉर्म भरने के लिए निकली थी। घर में सभी को यही पता था कि वह कॉलेज गई है। अचानक उसकी मौत की खबर से पूरा परिवार सदमे में है। ​वह संत जेवियर्स कॉलेज में सोशियोलॉजी से BA ऑनर्स की छात्रा थी। विनिता ने संत अन्ना स्कूल से 10वीं की परीक्षा 91% अंक के साथ उत्तीर्ण की थी, मैथ में 100 में 100 नंबर मिले थे। संत जेवियर्स कॉलेज से 12वीं साइंस की परीक्षा 87% अंक के साथ पास की थी। कॉलेज के रिकॉर्ड के अनुसार वह नियमित ऑनलाइन क्लास ले रही थी।

बिल्डिंग की सुरक्षा की खुली पोल

विनिता की मौत ने बिल्डिंग की सुरक्षा व्यवस्था की भी पोल खोल दी है। CCTV फुटेज में साफ दिख रहा है कि जब वह बिल्डिंग की सीढ़ी की तरफ बढ़ रही थी तब तैनात सुरक्षागार्ड सोया हुआ था। वह सीढ़ियों से चढ़कर 15वीं मंजिल तक गई थी।