यूपी के इन स्टेशनों से होकर बिहार के लिए चलेंगी स्पेशल ट्रेन, देखिये रूट और टाइमिंग

लखनऊ, बाराबंकी, गोंडा, बस्ती, खलीलाबाद और गोरखपुर में रहने वाले बिहार के लोगों के लिए गोरखपुर के रास्ते लखनऊ जंक्शन से दरभंगा तक छठ पूजा स्पेशल एक्सप्रेस का संचालन शुरू हो गया है। यह स्पेशल ट्रेन 14 नवंबर तक चलेगी। इस ट्रेन के सभी कोच आरक्षित हैं। कोविड प्रोटोकाल का पालन करना अनिवार्य होगा। दरअसल, कप्तानगंज से लगायत नरकटियागंज, बेतिया, मुजफ्फर और दरभंगा के लोग उत्तर प्रदेश और पूर्वांचल के विभिन्न क्षेत्रों में रहते हैं। जो पूरे वर्ष छठ का इंतजार करते हैं। इस पर्व में वह परिवार के साथ घर जाते हैं।

इन तिथियों में चलेगी ट्रेन

01762 लखनऊ जंक्शन-दरभंगा पूजा स्पेशल 06, 08, 11 एवं 13 नवंबर को अपराह्न 01.00 बजे रवाना होगी। यह ट्रेन बढ़नी, सिद्धार्थनगर के रास्ते रात 08.10 बजे गोरखपुर पहुंचेगी। गोरखपुर से रवाना होकर कप्तानगंज, बगहा, नरकटियागंज और सीतामढ़ी होते हुए दूसरे दिन सुबह 04.30 बजे दरभंगा पहुंचेगी।

01761 दरभंगा- लखनऊ जंक्शन पूजा स्पेशल 07, 09, 12 एवं 14 नवंबर को सुबह 05.45 बजे रवाना होगी। यह ट्रेन जनकपुर, सीतामढ़ी, रक्सौल और नरकटियागंज के रास्ते अपराह्न 03.55 बजे गोरखपुर पहुंचेगी। यह ट्रेन आनंदनगर, बढ़नी और गोंडा होते हुए रात 10.45 बजे लखनऊ जंक्शन पहुंचेगी।

बदले हुए रेक संरचना से चलेगी गोरखपुर-एलटीटी गोरखपुर

01235/01236 लोकमान्य तिलक टर्मिनस-गोरखपुर-लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्पेशल बदले हुए रेक संरचना के आधार पर चलेगी। वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी चंद्र प्रकाश चौहान के अनुसार 01235

लोकमान्य तिलक टर्मिनस-गोरखपुर स्पेशल में नौ, 16 और 23 नवंबर तथा 01236 गोरखपुर-लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्पेशल में 11, 18 एवं 25 को रेक संरचना बदल जाएगा। अब इस ट्रेन में वातानुकूलित प्रथम श्रेणी का एक, वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी के चार और वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 12 कोच लगाए जाएंगे।

बोर्ड में उठा रेलकर्मियों की पदोन्नति का मुद्दा

रेलवे कर्मचारियों की विभागीय पदोन्नति का मामला रेलवे बोर्ड के साथ हुई मान्यता प्राप्त संगठनों के पदाधिकारियों की बैठक में उठा है। पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ (पीआरकेएस) के महामंत्री विनोद कुमार राय के अनुसार नेशनल फेडरेशन आफ इंडियन रेलवे (एनएफआइआर) के महामंत्री एम राघवैया ने रेलकर्मियों की समस्याओं को उठाया है। साथ ही प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण की मांग की है। महामंत्री ने कहा कि 17 और 18 नवंबर को भी दिल्ली में बैठक होगी। इस दौरान रेलकर्मियों की पदोन्नति का मुद्दा फिर से उठाया जाएगा।