यूट्यूब को साथी बनाकर सीखी कश्मीरी एपल बेर उगाने के गुर और आज कमा रहे लाखों, पढ़िए इनकी कहानी

सोशल मीडिया कुछ लोगों के लिए अभिशाप साबित हुआ लेकिन कितनों के लिए वरदान साबित हुआ।

लोग यूट्यूब जैसे प्लेटफार्म से अलग-अलग चीजें सीखकर जीवन में आगे बढ़ रहे हैं। कुछ अपना रोजगार शुरू कर रहे हैं कुछ अपने शौक पूरे कर रहे हैं। ऐसे ही एक व्यक्ति हैं त्रिपुरा के विक्रमजीत चकमा जिन्होंने यूट्यूब के सहारे कश्मीरी एप्पल बेर की खेती के गुर सीखे। और आज यह इसकी खेती करके सलाना लाखों रुपए कमा रहे हैं।

त्रिपुरा में उनाकोटी के पेचारथल गांव के रहने वाले 32 वर्षीय बिक्रमजीत चकमा ओबीसी कॉरपोरेशन में फील्ड ऑफिसर की नौकरी करते हैं और छुट्टी के दिन अपने चाचा और भाइयों के साथ खेती करते हैं। पिछले एक-डेढ़ साल से खेती में उनका योगदान काफी बढ़ा और राज्य के बहुत से किसान उनसे प्रेरणा भी ले रहे हैं।

बिक्रमजीत अपने चाचा, चंचल कुमार चकमा और उनके दो भाई, रणजीत चकमा और बिस्वजीत चकमा के साथ मिलकर एप्पल बेर की खेती कर रहे हैं। इससे उनकी कमाई न सिर्फ दुगुनी हुई है बल्कि उन्हें कुछ नया करने के लिए हर तरफ से सराहना भी मिल रही है।

उन्होंने बताया कि सबसे पहले मैंने बांग्लादेश का एक वीडियो देखा जिसमें एक पत्रकार एप्पल बेर की खेती के बारे में बता रहे थे। मैंने वहीं से सब कुछ सीखा। फिर मैंने अपने परिवार वालों से सलाह मशवरा करके कोलकाता से इसके 1400 पौधे मंगाए। इसमें से डेढ़ सौ पौधे खराब हो गया। लेकिन जितना बचा उसमें से ही पहले साल ही हमें लगभग 40 क्विंटल उत्पादन मिला।

उन्होंने आगे बताया कि 40 क्विंटल में से 12 क्विंटल हमने मंडी में बेचा कि सीधे ग्राहकों को बेचा। उनके चाचा बाजार जा कर खुद एप्पल बेर बेचते थे। उनका कहना है कि पहले साल उन्हें लगभग पौधे खरीदने और सब कुछ मिलाकर के 2 से ढाई लाख रुपए का खर्च आया। लेकिन जब 40 क्विंटल उत्पादन हुआ इसे बेचकर हमें ₹6 लाख की आमदनी हुई।

आज विक्रमजीत सैकड़ों किसानों को ट्रेनिंग देते हैं। उनका खुद का यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज भी है जहां वे खेती से जुड़ी ढेर सारी जानकारी देते हैं।

उनका यूट्यूब चैनल Go Green- Vk Blog नाम से है।