यात्रा करने से पहले जान ले रेलवे का यह नया नियम , वरना सफर में हो सकती है परेशानी

हमारे देश में ट्रेन से यात्रा करना काफी ज्यादा सुविधाजनक माना जाता है. लोग बस या फिर कई अन्य साधन से यात्रा करने के बदले ट्रेन से यात्रा करना ज्यादा पसंद करते हैं. यात्रा कम दूरी की हो या अधिक दूरी कि लोग ट्रेन से ही यात्रा करना ज्यादा अच्छा मानते हैं. त्योहारी सीजन में लोगों का ट्रेन से यात्रा करना और ज्यादा बढ़ जाता है.

अगले महीने में दिवाली और छठ पूजा है ऐसे में उत्तर प्रदेश बिहार झारखंड के ट्रेनों में काफी ज्यादा भीड़ देखने को मिल रही है. दिल्ली से आने वाली ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट काफी लंबी हो गई है.त्योहारी सीजन में यात्रा करने से पहले रेलवे ने कुछ नियम बनाए हैं. आपको यात्रा से पहले इन नियमों को जान लेना चाहिए वरना आपको यात्रा के समय परेशानी हो सकती है.

कई बार ऐसे देखने को मिलता है कि लोग ट्रेनों में बहुत ज्यादा सामान लेकर चढ़ जाते हैं और फिर उन सामानों को रखने के लिए जगह ढूंढने लगते हैं. जब ज्यादा सामान होता है तो लोग अपने सीट के नीचे तो सामान रखता ही है साथ ही साथ दूसरों के सीट के नीचे भी सामान रख देते हैं ऐसे में दूसरे यात्रियों को परेशानी होने लगती है. इस समस्या को दूर करने के लिए रेल मंत्रालय ने यात्रियों को एक जरूरी सलाह दिया है.

मंत्रालय ने कहा है कि आप को सुविधाजनक रूप से यात्रा करना है तो सीमित सामान लेकर यात्रा पर निकले.रेल मंत्रालय ने जो ट्वीट किया है, उसमें लिखा है, ‘जिम्मेदार रेल यात्री बनें! सुखद एवं आरामदायक यात्रा हेतु सीमित सामान लेकर ही यात्रा करें, ताकि ट्रेन के अन्य सहयात्रियों को परेशानी न हो, अत्याधिक सामान होने पर उसे लगेज यान में बुक कराकर भेजें.

आप अगर समान कहीं भेजना चाहते हैं तो रेलवे आपको कुरियर का सुविधा भी प्रदान करता है. जिससे आप आसानी से अपना सामान बुक करके दूसरी जगह पर भेज सकते हैं. रेलवे के कुरियर से सामान भेजने पर आपको अधिक फीस भी नहीं देनी पड़ती है.

आपको बता दें कि अगर आप स्लीपर क्लास में यात्रा कर रहे हैं तो आप अधिकतम 50 किलो तक सामान ले जा सकते हैं. अगर आप फर्स्ट क्लास एसी में यात्रा कर रहे हैं तो आप अधिकतर 70 किलो तक सामान ले जा सकते हैं. इससे ज्यादा सामान होने पर आप रेलवे की कुरियर का लाभ ले सकते हैं.