भारतीय रेलवे ने 3110 ट्रेनों का किराया किया कम, जानिए कितना हुआ कम

ट्रेनों से स्पेशल का टैग हटने के बाद यात्री किराया में 20 से 30 प्रतिशत तक कमी की गयी है. सेकेंड सीटिंग में जहां 10 से 20 रुपये कम हुए हैं. वहीं, स्लीपर के किराये में सौ रुपये से अधिक की बचत होगी. एसी का किराया भी 300 से 400 रुपये तक कम हुआ है. देश भर में 3110 ट्रेनों अब पहले की तरह किराया लगेगा. ट्रेनों को पुराने नंबर और पहले से निर्धारित किराये पर चलाने के लिए 14 से 21 नवंबर तक कंप्यूटरों में सिस्टम को अपडेट किया गया.

अलग-अलग ट्रेनों में किराया कम करने की दर अलग-अलग है. मगध एक्सप्रेस में पटना से दिल्ली के किराये में स्लीपर क्लास के लिए 140 रुपये, थर्ड एसी के लिए 365 और एसी-टू के लिए 420 रुपये अब कम देने होंगे. ट्रेन जब स्पेशल थी तो स्लीपर के 650, थर्ड एसी के लिए 1715 और एसीटू के लिए 2330 रुपये किराया लगता था. पटना से रांची जाने में अब लगभग 50 रुपये कम किराया लगेगा. पहले स्लीपर में 305 रुपये लगता था. अब 255 रुपये लगेगा.

कुछ ट्रेनों में स्पेशल के नाम पर अधिक किराया लगता था. उसमें कमी आयी है. कई ऐसी भी ट्रेनें थीं, जो स्पेशल के नाम पर चल रही थीं, पर उनमें सामान्य किराया लग रहा था. ऐसी ट्रेनों में किराया यथावत है. सिर्फ फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन में अतिरिक्त किराया लग रहा है.

राजेश कुमार, सीपीआरओ पूमर