बैंक की गलती से खाते में आए 5.5 लाख। मांगने पर बोला नहीं दूंगा, मोदी जी ने भेजी है 15 लाख की पहली किस्त

बिहार के खगड़िया में एक ऐसा वाक्या हुआ है जिसमें प्रधानमंत्री मोदी का बार-बार नाम लिया जा रहा है। दरअसल खगड़िया जिले में बैंक की गलती से ग्रामीण के खाते में साढे पांच लाख चले गए। जब ग्रामीण से बैंक में पैसे वापस मांगे तो उसने कहा कि मोदी जी ने वादा किया था 15 लाख देने का। उन्होंने ही इसकी पहली किस्त भेजी है। मैं वापस नहीं दूंगा।

जानकारी के अनुसार रंजीत दास नाम के व्यक्ति के खाते में बैंक की गलती से 5.5 लाख रुपए वापस आ गए थे। उसने खाते से ये रुपए निकाल लिए और खर्च कर दिए। बैंक को जब इस भूल का एहसास हुआ तो उन्होंने रंजीत दास से संपर्क किया और पैसे वापस करने की मांग की, लेकिन रंजीत ने पैसे वापस नहीं किए। रंजीत ने कहा कि यह पैसे पीएम मोदी ने मेरे खाते में जमा करवाया है।

इस मामले को लेकर बैंक ने रंजीत दास को कई नोटिस भेजे। लेकिन उसने पैसे वापस करने से इंकार कर दिया। अंत में बैंक ने रंजीत दास के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाया। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।