बीपीएससी का अहम फैसला। अब एक बार ही मिलेगा यह मौका। जान लीजिए पूरी खबर

बिहार लोक सेवा आयोग( बीपीएससी) ने अपने आवेदन के नियम और शर्तों में बदलाव कर दिया है। अब अभ्यार्थियों के पास आवेदन में सुधार का बस एक ही मौका रहेगा। वह भी आवेदन के समय ही दिया जाएगा। अब तक ऐसा होता था कि आवेदन पत्र में गलती होने पर अभ्यर्थी सुधार के लिए आवेदन देते थे।

इससे बीपीएससी पर अतिरिक्त कार्यभार का बोझ पड़ता था। और बेवजह की परेशानी होती थी।

अब बीपीएससी ने साफ कर दिया है कि अभ्यर्थियों को बस आवेदन पत्र भरते समय ही आवेदन पत्र में सुधार का मौका दिया जाएगा। फॉर्म भरने के अंतिम समय तक एक बार सुधार करने का अवसर आयोग की ओर से स्वत: दिया जाएगा। इस दौरान अभ्यर्थी अपने आवेदन प्रपत्र में गलती सुधारने से चूक जाते हैं तो उन्हें दोबारा मौका नहीं मिलेगा। यह नियम आने वाली बीपीएससी की 67वीं संयुक्त परीक्षा से ही लागू कर दिया जााएगा।

जानकारी के अनुसार अभ्यर्थियों द्वारा आवेदन पत्र में सबसे ज्यादा गलतियां टाइटल, जन्म तिथि, आप्शनल पेपर, उम्र, एनओसी, आरक्षण कैटगरी, जाति व प्रमाण पत्र को लेकर की जाती है। इन गलतियों को सुधारने के लिए अभ्यर्थियों द्वारा अनावश्यक रूप से आयोग पर दबाव बनाया जाता है जिससे परीक्षा लेने में भी विलंब हो जाती है। आयोग के संयुक्त सचिव अमरेंद्र कुमार ने बताया कि अब फॉर्म भरने के बाद अभ्यर्थियों को अपने आवेदन पत्र देखने व सुधार करने का विशेष अवसर दिया जाएगा। इसके बाद दोबारा कोई मौका नहीं मिलेगा। बता दें कि आयोग जल्दी 67 वीं बीपीएससी के लिए नोटिफिकेशन जारी करेगा।