बिहार से झारखण्ड के लिये इन 200 रूटों पर चलेंगी बसें, जानिए रूट

बिहार और झारखंड के बीच आवागमन आसान होने वाला है। दोनों राज्योंके बीच 210 मार्गों पर बस चलाने की तैयारी हो रही है। पटना से रांची के बीच 500 बसों का परमिट कोटा है, जिसमें 465 अभी खाली हैं। इसी तरह पटना से टाटा के बीच 200 में 157, हजारीबाग के बीच 200 में 157 व देवघर के लिए 125 में 121 खाली हैं।

राज्य के सभी शहरों से झारखंड, यूपी व अन्य राज्यों में बसों का परिचालन होगा। परिवहन विभाग ने इसकी तैयारी कर ली है। इस क्रम में विभाग ने सबसे पहले बिहार और झारखंड के बीच 210 मार्गों पर बसों का परिचालन करने का निर्णय लिया है। विभाग ने बसों के संचालन के लिए वाहन मालिकों से 22 अक्टूबर तक ऑनलाइन आवेदन मांगा है। 26 अक्टूबर तक आवेदन की हार्ड कॉपी विभाग के कार्यालय में जमा करनी है।

विभागीय अधिकारियों के मुताबिक 19 नवंबर को राज्य परिवहन प्राधिकार सह परिवहन आयुक्त के कार्यालय में बैठक होगी, जिसमें बसों की परमिट पर अंतिम मुहर लगेगी। इसके बाद बसों का परिचालन शुरू हो जायेगा और दिसंबर से राज्य के सभी शहरों से बिहार से झारखंड जाने वालों को सुविधा होगी। इसके बाद यूपी सहित अन्य राज्यों के लिए भी परमिट दिया जाएगा।

कई रूटों पर बसों का परिचालन नहीं हो रहा

विभाग के मुताबिक कई रूट ऐसी भी हैं, जिसमें बसों का परिचालन नहीं हो रहा है। इसमें पटना-बहरागोड़ा, आरा-गिरीडीह, भभुआ-रांची, गया-बोकारो, गया-देवघर, गया-दुमका, औरंगाबाद- गिरीडीह, जहानाबाद-बोकारो, नवादा-टाटा, नवादा- हजारीबाग, हिसुआ-रांची, मुंगेर-टाटा, जमुई-टाटा, जमुई-देवघर, बेगूसराय-टाटा, बेगूसराय-बोकारो, बेगूसराय-देवघर, खगड़िया-धनबाद, छपरा-रांची, छपरा-टाटा, छपरा-बोकारो, मुजफ्फरपुर- धनबाद, सीवान-हजारीबाग, भागलपुर-रांची, भागलपुर-हजारीबाग, बांका-टाटा, दरभंगा-बोकारो, हजारीबाग-किशनगंज आदि हैं।