बिहार रेल यात्रीयों के लिये खुशखबरी : रेलवे जल्द स्पेशल ट्रेनों का किराया घटा सकती है, जानिए पूरी ख़बर

कोरोना काल में संकट से जूझ रही रेलवे ने अपनी योजनाओं को सुचारू रखने और कर्मचारियों को समय पर वेतन देते रहने के लिए कई नवीन व्‍यवस्‍थाएं कीं। इनमें नियमित ट्रेनों की बजाय अधिक किराए वाली स्‍पेशल ट्रेनों को चलाना, प्‍लेटफार्म टिकट महंगा करने सहित अन्‍य सुविधाओं के शुल्‍क में बढ़ोतरी शामिल है। इसके साथ ही रेलवे ने वृद्धजनों सहित अन्‍य वर्गों को रेल किराए में मिलने वाली छूट भी खत्‍म दी। कोरोना संक्रमण का खतरा कम होने के बाद लोग इस इंतजार में हैं कि रेलवे पहले की तरह कम किराए वाली नियमित ट्रेनों का परिचालन शुरू करेगा। रेलवे बोर्ड अध्‍यक्ष के एक बयान से इस बात की संभावना जगी है कि लोगों की मुराद अब पूरी हो सकती है।

दशहरा के बाद विचार का दिया था आश्‍वासन

दरअसल दानापुर रेल मंडल कार्यालय में पिछले हफ्ते हुए पत्रकारों के साथ वेब आधारित वार्ता में रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने इस बात के संकेत दिए थे कि दुर्गा पूजा के बाद रेलवे यात्री किराए में पहले मिलने वाली छूटों को फिर से बहाल करने पर विचार कर सकता है। उन्‍होंने कहा था कि अब रेलवे की गतिविधियां धीरे-धीरे सामान्‍य होने लगी हैं। ज्‍यादातर ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया गया है और यात्री भी मिलने लगे हैं। इसके साथ ही रेलवे माल ढुलाई के जरिए अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए लगातार ही नए प्रयास कर रहा है।

स्‍पेशल नंबर से चलने वाली ट्रेनों का किराया अधिक

पूर्व मध्‍य रेलवे के क्षेत्र में चलने वाली ट्रेनें फिलहाल स्‍पेशल नंबर से चल रही हैं। इनका किराया सामान्‍य ट्रेनों से अधिक है। रेल यात्रियों की मांग है कि ट्रेनों को पहले ही तरह नियमित नंबर से चलाया जाए और सामान्‍य किराया वसूल किया जाए। प्‍लेटफार्म टिकट का मूल्‍य पहले की तरह करने के साथ ही रेलवे में विभ‍िन्‍न श्रेणियों के लिए किराए में मिलने वाली छूट को भी जारी रखने की मांग लोग कर रहे हैं। आपको बता दें कि पूर्व मध्‍य रेलवे से इतर कुछ जोन में धीरे-धीरे ट्रेनों को नियमित नंबर के साथ चलाने की प्रक्रिया शुरू भी हो चुकी है।