बिहार में 2025 तक सभी घरों में मुफ़्त में लगाए जाएंगे स्मार्ट प्रीपेड मीटर

सोमवार को कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि राज्य के सभी विद्युत उपभोक्ताओं के घरों में बिजली के स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जाएंगे। इसके लिए रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉरपोरेशन लिमिटेड तथा एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड के साथ-साथ बिहार की दोनों कंपनियां नार्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड और साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड मिलकर काम करेंगे।

11100 करोड़ खर्च आने का अनुमान।

बता दें कि इस योजना पर कुल 11100 करोड़ रुपए खर्च आने का अनुमान है। इसमें से लगभग 30% यानी कि 3330 करोड़ रुपए दोनों वितरण कंपनियों को नाबार्ड के माध्यम से ऋण के रूप में उपलब्ध कराया जाएगा। मालूम हो कि राज्य में स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाने का काम शुरू हो चुका है।

पावर सप्लाई के लिए ग्रिड सबस्टेशन को बनाया जाएगा बेहतर।

राज्य में बिजली की निर्बाध आपूर्ति के लिए संचरण प्रणाली का विस्तार एवं सुदृढ़ीकरण जाएगा। इसके लिए अमनौर छपरा ग्रिड सब स्टेशन में एक 220/132 केवी 160 MVA का ट्रांसफार्मर लगेगा। तथा naubatpur व जगनपुरा ग्रिड सब स्टेशन में 125 MVR के दो ट्रांसफार्मर तथा 400 केवी बस रिएक्टर स्टेशन लगाए जाएं। इसके लिए प्रति सबस्टेशन कुल 111.14 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं।