Homeबिहारबिहार में अभी ठंड से नहीं मिलेगी राहत, इन जिलों में शीतलहर...

बिहार में अभी ठंड से नहीं मिलेगी राहत, इन जिलों में शीतलहर का प्रकोप

पहाड़ी व बर्फीली इलाकों से आ रही सर्द पछुआ हवा के प्रभाव के कारण न्यूनतम एवं अधिकतम तापमान में गिरावट आ रही है। बिहार के ज्‍यादातर शहरों में अब कोल्‍डवेभ जैसे हालात हैं। मौसम विज्ञान केंद्र पटना से प्राप्त जानकारी के अनुसार, रविवार को पटना के तापमान में सामान्य तीन से चार डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। न्यूनतम तापमान 6.7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। वहीं, अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री लुढ़क कर 21.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, 4.1 डिग्री सेल्सियस के साथ गया प्रदेश का सबसे ठंडा शहर रहा।

शीतलहर चलने की संभावना

मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, सतह से एक किमी ऊपर पछुआ एवं उत्तर पछुआ हवा का प्रवाह बने होने से एक चक्रवाती परिसंचरण का क्षेत्र समुद्रतल से 1.5 किमी तक बना है। इसके प्रभाव से प्रदेश में अगले 48 घंटों के दौरान दक्षिण पश्चिम भाग के बक्सर, भोजपुर, रोहतास, भभुआ, औरंगाबाद, अरवल एवं दक्षिण मध्य बिहार के पटना, गया, नालंदा, शेखपुरा, नवादा, बेगूसराय, लखीसराय के एक या दो स्थानों पर शीतलहर चलने का पूर्वानुमान है। वहीं, प्रदेश के एक या दो जगहों पर हल्के से मध्यम स्तर के कोहरा छाए रहने का पूर्वानुमान है।

सुबह के समय ग्रामीण क्षेत्रों से लोगों की आवाजही कम रही। हालांकि धूप खिलने के साथ बाजार में लोग दिखने लगे। पर, पूरे दिन पछिया हवा के सर्द थपेड़ों से लोग परेशान रहें। दोपहर तक नगर से लेकर गांव तक जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। तापमान की बात करें तो, सोमवार का अधिकतम 23 व न्यूनतम तापमान पांच डिग्री दर्ज किया गया है। जो अन्य दिनों से दो डिग्री तक कम है।

मौसम विभाग के सूत्रों की माने तो, अभी सर्दी में और इजाफा होगा। जिससे लोगों की परेशानी और बढ़ेगी। इधर ठंड बढऩे के साथ गर्म कपड़ों, अंडे व मूंगफली की बिक्री में भी इजाफा हुआ है। जिसपर ग्राहकों की भीड़ जुट रही है। उल्लेखनीय है कि 15 दिसंबर से लेकर 15 जनवरी तक क्षेत्र में कड़ाके की ठंड का समय कहा जाता है। जिसका शुभारंभ हो गया है।

Most Popular