बिहार में अब सड़क हादसे में तुरंत मिलेगा मुआवजा, जानिए क्या करना होगा और कितना मिलेगा

राज्य सरकार के नए नियम के अनुसार अब दुर्घटना में घायलों और मृतकों के परिजनों को तुरंत मुआवजा दिलाया जाएगा। परिवहन विभाग नया नियम बनाया है कि जिस थाना क्षेत्र में सड़क दुर्घटना होती है तो घटना की विस्तृत जांच रिपोर्ट 7 दिनों के भीतर थाने के माध्यम से एमवीआई( मोटर व्हीकल इंस्पेक्टर) के पास पहुंच जानी चाहिए। अगर थाना 7 दिनों में रिपोर्ट नहीं भेज पाता तो इस संबंध में तुरंत जिला परिवहन कार्यालय को सूचित करना होगा ऐसा नहीं करने पर संबंधित थाने को जवाब देना पड़ेगा।

वाहन दुर्घटना सहायता निधि का किया गया है गठन।

दुर्घटना में मुआवजा राशि के भुगतान के लिए मुख्यालय स्तर पर बिहार वाहन दुर्घटना सहायता निधि का गठन किया गया है। इसके माध्यम से मौत पर परिजनों को व घायलों को तुरंत मुआवजा दिया जाएगा। इसको लेकर एक सेंट्रल ड्राइवर नल बनाया गया है जहां राज्य भर से मामला आएगा।

तुरंत दिया जाएगा इतना मुआवजा।

अब नए नियम के अनुसार सड़क दुर्घटना में मरने वालों के आश्रित घायलों को राज्य सरकार तत्काल रूप से सरकारी मुआवजा देगी। योजना के तहत दुर्घटना में मरने वाले के आश्रितों को 5 लाख और गंभीर रूप से घायल को ₹50000 का मुआवजा मिलेगा। इस संबंध में सभी जिला परिवहन पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया गया है।

इसके अलावा सड़क दुर्घटना के मुआवजे के लिए सड़क सुरक्षा निधि से 50 करोड़ की राशि बिहार वाहन दुर्घटना सहायता निधि के रूप में रहेगी। विभागीय अधिकारियों के अनुसार अंतरिम मुआवजा राशि की प्रतिपूर्ति वाहन की बीमा कंपनी द्वारा बीमा दावे के रूप में देय राशि से की जाएगी। बीमा रहित वाहनों की स्थिति में मुआवजा राशि का समायोजन वाहन स्वामी से किया जाएगा।