बिहार में अब ट्रैफिक नियम तोड़ने पर कटेगा ई-चालान, इस शहर से होगी शुरुवात

अब बिहार में ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों का ई- चालान काटा जाएगा। इसकी शुरुआत पटना से की जा रही है। जल्दी से बिहार के अन्य शहरों से में भी शुरू कर दिया जाएगा। कि इसके पहले रसीद के माध्यम से चालान दिया जाता था लेकिन अब इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से प्रिंटेड चालान दिया जाएगा। इसके लिए पटना के ट्रैफिक पुलिस को हैंड हेल्ड डिवाइस दिया जाएगा।

रसीद वाले चालान में यह थी समस्या।

बता दें कि अभी यह सेवा सिर्फ पटना में शुरू की गई है। इसके अलावा भी बिहार के तमाम शहरों में रसीद के माध्यम से ही चालान काटा जा रहा है। रसीद से चालान काटने में मुख्य समस्या इसकी एंट्री को लेकर हो रही है।

रसीद वाले सिस्टम में पता नहीं चल पाता है कि रसीद का कितना उपयोग हुआ है और उससे कितने राजस्व की प्राप्ति हुई है। इसे देखते हुए विभाग ने तय किया है कि यातायात कर्मियों को हैंडहेल्ड डिवाइस दिया जाएगा। अब इसके तहत चालान का सारा रिकॉर्ड परिवहन विभाग के पास उपलब्ध रहेगा। पटना के 12 ट्रैफिक थानों के 350 कर्मियों को अब तक यह डिवाइस दिया जा चुका है। बाकी 1531 कर्मियों के डिवाइस देने की तैयारी है।

पिछले वर्ष वसूला गया इतना जुर्माना।

बता दें कि ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों से पिछले वर्ष 43.13 करोड़ रुपए का जुर्माना वसूला गया। इनमें से हेलमेट ना पहनने वालों से 37.23 करोड़, सीट बेल्ट नहीं लगाने वालों से 14.7 करोड़, गलत लेन में गाड़ी चलाने वालों से 16 लाख रुपए वसूले गए। इसके अलावा वाहन चलाते समय मोबाइल का उपयोग करने वालों से 40.32 लाख वसूले गए वहीं नाबालिगों द्वारा गाड़ी चलाने पर 16.4 तीन लाख जुर्माना वसूला गया।