Homeबिहारबिहार में अनलाक-2 का ऐलान, दुकानों और कार्यालयों को लेकर बढ़ी छूट

बिहार में अनलाक-2 का ऐलान, दुकानों और कार्यालयों को लेकर बढ़ी छूट

बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण (CoronaVirus Infection) लगातार घट रहा है। इसे देखते हुए राज्‍य सरकार ने लॉकडाउन (Lockdown) खत्‍म कर धीरे-धीरे अनलॉ‍क की प्रक्रिया (Process of Gradual Unlock) को अपनाया है। अनलॉक के पहले चरण (Unlock- 1) के बाद बुधवार से आरंभ दूसरे चरण की गाइडलाइन (Guideline of Unlock- 2) को तय करने के लिए आपदा प्रबंधन समूह (Crisis Management Group) की बैठक पूर्वाह्न 11 बजे हुई। अनलॉ‍क की नई गाइडलाइन कुछ देर बाद जारी कर दी जाएगी। वैसे, मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने कुछ छूटों में ढ़ील देने की घोषणा कर दी है।

सीएम नीतीश ने ट्वीट कर दी छूटों की जानकारी

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने ट्वीट में कहा है कि अगले एक सप्ताह 22 जून तक तक प्रतिबंधों में ढील देते हुए अब सरकारी एवं गैर सरकारी कार्यालय सायं पांच बजे तथा दुकानें एवं प्रतिष्ठान सायं छह बजे तक खुलीं रहेंगी। नाइट कर्फ्यू संध्या अब रात आठबजे से सुबह पांच बजे तक लागू रहेगा।

अनलॉ‍क में अभी किसी बड़ी छूट की उम्‍मीद नहीं

अनलॉ‍क- 2 की नई गाइडलाइन अभी नहीं आई है, लेकिन इसमें किसी बड़ी छूट की उम्‍मीद नहीं है। पिछले एक महीने से कोरोनावायरस संक्रमण के मामलों में कमी आ रही है। अब राज्य में हर दिन पांच सौ से भी कम नए संक्रमित मिल रहे हैं। ऐसे में होटल, रेस्तरां आदि सेक्टर कुछ राहत की उम्मीद कर रहे हैं, मगर इस दिशा में छूट की उम्मीद कम है। शिक्षण संस्थान (Educational Institutions) बंद रहेंगे। सार्वजनिक और सांस्कृतिक आयोजनों पर भी रोक जारी रहने की उम्‍मीद है। माना जा रहा है कि धार्मिक स्थल व सिनेमाघर आदि भी बंद ही रहेंगे। हां, नए प्रावधानों के तहत दुकानें अब सायं छह बजे तक खुलेंगी और रात्रिकालीन कर्फ्यू (Night Curfew) में भी राहत दी गई है।

जुलाई के आरंभ तक मिल सकती है बड़ी राहत

बताया जा रहा है कि अनुसार, अनलॉक में बड़ी राहत के लिए जून के अंतिम सप्ताह या जुलाई का इंतजार करना होगा। शिक्षण संस्थानों के साथ सार्वजनिक और सांस्कृतिक आयोजनों को अगले माह में ही कुछ शर्तों के साथ छूट दी जा सकती है। सूत्र बताते हैं कि सरकार अनलॉक में धीरे-धीरे छूट देने कर नीति पर चल रही है। एक बार में बड़ी छूट देने से कोरोनावायरस के संक्रमण के वापस लौटने की आशंका है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के अनुसार कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए सतर्कता जरूरी है।

Most Popular