Homeबिहारबिहार को मिलने जा रहा एक और नए पुल का सौगात, पटना...

बिहार को मिलने जा रहा एक और नए पुल का सौगात, पटना जाने वाले लोगों को होगा फ़ायदा

सुल्तानगंज से सटा घोरघट पुल बनकर तैयार हो गया है। अप्रोच रोड का काम भी 80 फीसदी तक पूरा हो गया है। इस पुल का उद्घाटन 16 जनवरी को निर्धारित किया गया है। हालांकि मुख्यालय से यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि उद्घाटन कौन करेंगे।

मालूम हो कि मुंगेर पुल का भी 16 जनवरी को ही उद्घाटन होना है। इस वजह से इस पुल पर गाड़ियों का लोड भी बढ़ेगा। इस पुल से आवागमन जब चालू होगा तो भागलपुर से पटना का सफर आसान हो जाएगा। पुल की वजह से अतिरिक्त कई किमी का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। अभी तारापुर, हवेली खड़गपुर होकर बरियारपुर के रास्ते मुंगेर होकर पटना जाने में 271 किमी लगता है। दूसरे रूट नवगछिया के रास्ते बेगूसराय, समस्तीपुर होकर जाने में 267 किमी लगता है, लेकिन घोरघट होकर जाने में 208 किमी लगेगा। वर्तमान में पुराने बेली ब्रिज के कमजोर रहने और नये पुल के नहीं बनने से बड़ी गाड़ियां भागलपुर-पटना के बीच दोनों दिशाओं में अकबरनगर-असरगंज तारापुर-लखीसराय होकर चल रही है।

पुल निर्माण निगम को मिला काम तो ही बन सका है पुल

सालभर में बनने वाला यह पुल 9 साल से अधूरा पड़ा था। अधूरे पुल को बनाकर तैयार करने में करीब 11 करोड़ खर्च आया है। इसके बाद काम पुल निर्माण निगम को मिला। इसके बाद पुल बनकर तैयार हुआ है। पुल निर्माण निगम ने पटना की ठेका एजेंसी ब्रिज कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड से पुल बनवाया है। 25 अप्रैल 2012 में नये पुल का निर्माण शुरू हुआ था। यह पुल 24 अक्टूबर 2013 में बनाकर तैयार करना था। तकरीबन 5.29 करोड़ रुपये एनएच विभाग ने खर्च भी किया। बावजूद इसके तीन स्पेन तैयार नहीं हो सकी। पुल अधूरा ही रह गया।

2006 को धंस गया था पुल, सीएम को लौटना पड़ा था

12 जुलाई 2006 को मनी नदी पर बना घोरघट पुल धंस गया था। इसी बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी श्रावणी मेले का उद्घाटन करने के लिए क्षतिग्रस्त पुल से ही गुजर कर सुल्तानगंज जा रहे थे। सीएम को लौटना पड़ा था। उसके बाद राज्य सरकार द्वारा घोरघट पुल पर आवागमन चालू रखने के लिए 2 करोड़ 65 लाख की लागत से निर्माण कार्य नवंबर 2006 में प्रारंभ किया गया, लेकिन कुछ महीने के बाद बेली ब्रिज भी क्षतिग्रस्त हो गया। इसके बाद बेली ब्रिज से बड़े वाहनों के आवागमन पर रोक लगाने के लिए बैरियर लगा दिया गया।

घोरघट पुल बनकर तैयार हो गया है। सिर्फ दोनों साइड से लेबलिंग वर्क बाकी है। इसे जल्द बना लिया जाएगा। मुंगेर ब्रिज पर सड़क पुल तैयार हो गया है। 16 जनवरी से उसे चालू करने की योजना है। उसी के साथ घोरघट पुल भी 16 को ही चालू किया जा सकता है।

– सुशील कुमार, साइट इंजीनियर, एनएचएआई, मुंगेर कैंप।

Note: तस्वीर काल्पनिक है।

Most Popular