बिहार के सबसे कम उम्र की मुखिया से मिलिए, जानिए कितनी है उम्र इनकी

बिहार की राजनीति में यह खामी सबसे ज्यादा दिखाई देती है कि कोई भी शख्स जो पढ़ा लिखा नहीं है वो भी चुनाव लड़कर लोगों का जनप्रतिनिधि बन जाता है. राजनीति में हमेशा से पढ़े-लिखे लोगों की कमी रही है लेकिन इन सब के बीच एक अच्छी खबर यह है कि बिहार के शिवहर जिले से सबसे कम उम्र की युवती न सिर्फ मुखिया निर्वाचित की गयी है बल्कि वह शिक्षित है. बिहार में अब तक के सबसे कम उम्र की मुखिया बनने का रिकॉर्ड शिवहर प्रखंड के कुशहर पंचायत के अनुष्का कुमारी ने बनाया है. जिले के कुशहर पंचायत की सबसे कम उम्र की मुखिया अनुष्का कुमारी बनी है.

अनुष्का महज 21 वर्ष की हैं. उन्होंने मुखिया पद का चुनाव 287 वोटों से जीता है. नवनिर्वाचित मुखिया अनुष्का कुमारी को 2625 मत प्राप्त हुए तो वही उनकी प्रतिद्वंदी रहीं रीता देवी को 2338 मत प्राप्त हुआ. अनुष्का कुमारी ने अपने जीत का श्रेय जनता को दिया है. आपको बता दें कि अनुष्का कुमारी ने बेंगलुरू से पढ़ाई की है और इसके बाद उन्होंने पंचायत का चुनाव लड़ा थी. युवा होने के साथ-साथ वो सबसे कम उम्र की मुखिया बनी हैं.

अनुष्का से जब उनकी जीत और इतनी कम उम्र में राजनीति में एंट्री को लेकर सवाल किए गए तो उन्होंने बताया है कि क्षेत्र में काफी समस्याएं हैं. इन समस्याओं और भ्रष्टाचार को दूर करने को लेकर वो पंचायत चुनाव लड़ी थीं. पंचायत की जनता ने जो भरोसा करके जिताया है उसे कभी मैं टूटने नहीं दूंगी. वो बेंगलुरु में रहकर पढ़ाई करती थीं. अनुष्का ने हिस्ट्री ऑनर्स से बैचलर डिग्री हासिल की है और आगे भी पढ़ाई जारी रखना चाहती है. नवनिर्वाचित मुखिया अनुष्का कुमारी अन्य युवाओं के लिए एक प्रेरणा हैं. अनुष्का ने बताया कि जिस भी क्षेत्र में आप काम करते हैं उस क्षेत्र में कड़ी मेहनत और लगन के साथ काम करना चाहिए. सफलता के पीछे आप नहीं सफलता आपके पीछे रहेगी. 21 साल की मुखिया अपने दादा को आदर्श मानती हैं. अनुष्का कुमारी पूर्व जिला परिषद सदस्य सुनील सिंह की पुत्री हैं.