बिहार के बाल्मीकि नगर टाइगर रिजर्व में होगी होम स्टे की सुविधा, जानिए पूरी डिटेल

बिहार सरकार पर्यटन के विकास को लेकर लगातार प्रयास कर रही है। इसी क्रम में आप बाल्मीकि नगर टाइगर रिजर्व घूमने जाने वाले पर्यटकों को वहां पर होम स्टे की सुविधा मिलेगी। किफायती डर पर घर जैसे माहौल में पर्यटक अपना समय बिता सकते हैं। इसके अलावा वहां आसपास रहने वाले आदिवासियों की संस्कृति से भी पर्यटकों को रूबरू कराया जाएगा। साथ ही दरुआबारी व संतपुर सोहरिया थारु बहुलता वाले क्षेत्रों में कल्चरल कैंप स्थापित किया जाएगा।

आदिवासी संस्कृति से रूबरू होंगे पर्यटक।

बता दें कि वाल्मीकि नगर आदिवासी बहुल क्षेत्र है। VTR से सटे थारू व उराव दो जातियों का बाहुल्य गांव है। पर्यटन विभाग जहां एक तरफ इनकी संस्कृति को प्रकाश में लाने की कोशिश कर रही है। वहीं, इनके संस्कृति के माध्यम से विदेशी पर्यटकों को वाल्मीकि की धरती पर लाने का भी प्रयास कर रही है। इसलिए विभाग द्वारा दरुआबारी व संतपुर सोहरिया थारु बहुलता वाले क्षेत्रों में कल्चरल कैंप स्थापित किया जाएगा।

पर्यटकों को मिलेगी यह सुविधा।

जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने बताया कि वाल्मीकि नगर में पर्यटकों को होम स्टे की सुविधा उपलब्ध कराने की दिशा में में काम हो रहा है। जहां पर्यटकों को घर के जैसा माहौल मिल सके। पर्यटन विभाग होमस्टे के क्षेत्र में तेजी से काम कर रहा है। वाल्मीकि नगर में आने वाले पर्यटकों को कई दफा रहने में असुविधा होती है।

कई दफा ऐसा देखा जाता है कि छुट्टी वाले दिनों में रिसोर्ट में रूम की कमी हो जाती है। ऐसी स्थिति में होम स्टे की सुविधा पर्यटकों को दिलाई जाएगी। इससे

आदिवासी संस्कृति को जानने समझने की इच्छा रखने वाले लोग इसकी तरफ आकर्षित भी होंगे।