बिहार के कई जिलों में बदल रहा मौसम का मिजाज़, जानिए कब होगी ठंड की दस्तक

बिहार में इन दिनों पूर्वी हवा का प्रवाह जारी है। इसके फलस्वरूप दिन की अपेक्षा रात के तापमान में वृद्धि देखने को मिल रही है। कुछ ऐसी हीं स्थिति अगले दो-तीन दिनों तक बने रहने का पूर्वानुमान है। पूर्वी हवा के प्रवाह से प्रदेश के पूर्वी एवं दक्षिण भागों के कुछ स्थानों पर आंशिक रूप से बादल छाए रहने का पूर्वानुमान है। लोगों को अभी कड़ाके की ठंड का इंतजार करना होगा। पटना के मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक अभी मौसम के मिजाज में कोई बड़ा परिवर्तन होने की उम्‍मीद नहीं है। फिलहाल सुबह और शाम के वक्‍त ठंड बनी रहेगी, दिन में गुनगुनी धूप से मौसम सुहावना रहेगा।

पछुआ हवा लेकर आएगी ठंड

बिहार में ठंड का असर पछुआ हवा के साथ बढ़ता है। फिलहाल राजस्‍थान और इससे सटे इलाकों में ठंड का असर अधिक है। मौसम विभाग के राष्‍ट्रीय पूर्वानुमान में बताया गया है कि राजस्‍थान के कुछ इलाकों में कोल्‍ड वेभ (शीतलहर) जैसी स्थिति हो सकती है। बिहार में अभी पुरवा हवा का असर है। अभी यह जारी भी रहेगा। हालांकि जैसे ही राज्‍य में पछुआ हवा का असर शुरू होगा, ठंड भी बढ़ने लगेगा। मौसम विज्ञानियों के अनुसार दिसंबर के पहले हफ्ते से राज्‍य में ठंड का असर बढ़ने लगेगा। तब तक शाम ढलने के बाद पूरी रात और सुबह के वक्‍त तो ठंड का अहसास होगा, लेकिन दिन के वक्‍त मौसम आम तौर पर सामान्‍य बना रहेगा।

वायु प्रदूषण की हालत चिंतनीय

राज्‍य के शहरी इलाकों में वायु प्रदूषण की स्थिति बेहद चिंताजनक बनी हुई है। राष्‍ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की वेबसाइट पर दर्ज जानकारी के मुताबिक वायु गुणवत्‍ता सूचकांक (Air Quality Index) सोमवार की सुबह छह बजे पटना के राजबंशीनगर में 278, समनपुरा में 281, मुरादपुर में 161, गया में 167, मुजफ्फरपुर में 248, हाजीपुर में 189 रिकार्ड किया गया। एक्‍यूआइ 50 तक अच्‍छा, 100 तक संतोषजनक, 200 तक चिंताजनक, 300 तक खराब, 400 तक बहुत खराब माना जाता है।