बिहार के इस रेलखंड पर बढ़ेंगी पैसेंजर ट्रेनों की संख्या, इन जिलों के यात्रियों को होगा फ़ायदा

कटिहार-जोगबनी रेलखंड पर जल्द ही पैसेंजर ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जाएगी। रेलवे की आमदनी बढ़ी तो इसे नियमित किया जाएगा। इसके लिए लगातार मांग की जा रही है।

लोगों ने जब कटिहार रेलवे मंडल के मंडल प्रबंधक कर्नल शुभेंदु कुमार चौधरी के सामने रखी तो उन्होंने भी सहमति दे दी। कहा इस पर विचार किया जा रहा है। दरअसल, दो दिन पूर्व वे जलालगढ़ रेलवे यार्ड का निरीक्षण करने पहुंचे थे।

स्थानीय लोगों को कराया आश्वस्त

डीआरएम ने स्थानीय समाजसेवी बिनोद मंडल के प्रश्न का जवाब देते हुए कहा कि कटिहार-जोगबनी रेलखंड पर अभी दो पैसेंजर ट्रेन की परिचालन की जा रही है । बताया कि अभी जलालगढ़ से रेवेन्यू महज दो हजार रुपये प्रतिदिन है। वहीं अन्य रेल अधिकारी ने डीआरएम को अवगत कराते हुए बताया कि कोविड-19 से पूर्व इस स्टेशन से रेवेन्यू 9-10 हजार रुपये प्रतिदिन थी ।

चलाई जा रही छठ पूजा स्पेशल ट्रेनें

डीआरएम ने कहा कि अभी छठ पूजा स्पेशल एक ट्रेन चलाई जा रही है । इससे रेवेन्यू का आकलन किया जायेगा । साथ ही नए ट्रेनों का परिचालन जल्द शुरू किया जायेगा, लेकिन रेवेन्यू ठीक रही तो इसे नियमित कर दिया जायेगा अन्यथा इसे बंद कर दी जायेगी । मौके पर उन्होंने जलालगढ़ रेलवे स्टेशन के स्टेशन अधीक्षक रबींद्र कुमार से पूछा कि कितनी टिकटें प्रतिदिन कटती है । जवाब में उन्होंने बताया कि 150 टिकटें प्रतिदिन कटती है । उन्होंने इसकी संख्या बढ़ाये जाने की निर्देश एसएस को दिया ।

अन्य मांगों पर भी विचार करने का दिया भरोसा

साथ ही रैक प्वाइंट में गिट्टी और कोयला की रैक लगने पर धूलकणों से स्टेशन के आसपास की घनी आबादी प्रदूषण के शिकार हो रही हैं । इसकी समस्या के समाधान के लिए उन्होंने कहा कि इसमें जल्द पहल की जा रही है । साथ ही उनके सामने स्थानीय लोगों ने कई और समस्याएं रखी, उन्होंने उनपर भी विचार करने की बात कही है। दरअसल, ये मांगे बहुत दिनों से यहां के लोग कर रहे थे।