बिहार के इन 6 हाइवे का निर्माण नहीं हुआ है शुरू, जानिए क्या है कारण

एक समय राज्य में राष्ट्रीय उच्च पथ (एनएच) के निर्माण में विलंब का सवाल जब भी तेज हुआ करता था तो केंद्र सरकार की एजेंसी एनएचएआइ द्वारा यह कहा जाता था कि जब भूमि का अधिग्रहण ही नहीं हुआ है तो निर्माण कैसे आरंभ होगा? अब बदले हाल में स्थिति यह है कि एनएच की परियोजनाओं के लिए भूमि अधिग्रहण का काम पूरा हो गया है और केंद्र की एजेंसी संबंधित परियोजना के लिए निविदा नहीं कर पा रही। निविदा के लिए राज्य सरकार द्वारा दबाव बनाया जा रहा।

आमस-दरभंगा फोर लेन सड़क की निविदा इस माह भी संभव नहीं

आमस-दरभंगा फोर लेन सड़क का निर्माण भारतमाला शृंखला के तहत कराया जा रहा। पूरी तरह से ग्रीन फील्ड इस सड़क की लंबाई 200 किमी है। इस सड़क के लिए भूमि अधिग्रहण का काम पूरा किया जा चुका है। निविदा के लिए हाल ही में पथ निर्माण मंत्री ने दिल्ली में उच्च स्तर पर मुलाकात की थी। तय हुआ था कि 15 नवंबर तक इसकी निविदा कर ली जाएगी, पर अब ऐसा लग रहा कि इस माह भी इस सड़क के निर्माण के लिए निविदा नहीं हो पाएगी।

बिहटा-दानापुर एलिवेटेड सड़क का मामला भी अटका है

बिहटा से दानापुर के बीच एलिवेटेड सड़क निर्माण के लिए भूमि अधिग्रहण कर एनएचएआइ को उपलब्ध करा दिया गया है। इसके लिए राज्य सरकार को एनएचएआइ को राशि भी देनी है। इस सड़क की निविदा के लिए भी पथ निर्माण विभाग ने एनएचएआइ को कहा है।

बेगूसराय में 4.2 किमी एलिवेटेड सड़क की निविदा का भी हो रही प्रतीक्षा

बेगूसराय बाजार को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए वहां 4.2 किमी लंबाई में एलिवेटेड सड़क का निर्माण कराया जाना है। इसकी निविदा की प्रतीक्षा हो रही है। भूमि पहले से उपलब्ध है। हाल ही में उच्च स्तर पर इस परियोजना को लेकर विचार-विमर्श भी हुआ है।

सिवान-मशरख फोर लेन के लिए भी थ्री डी का काम पूरा

सिवान-मशरख फोर लेन के निर्माण के लिए भी भूमि अधिग्रहण मामले में थ्री डी किया जा चुका है। थ्री डी हो जाने के बाद निविदा कराए जाने का प्रविधान है, लेकिन मामला अटका पड़ा है। इस सड़क की लंबाई 60 किमी है। धार्मिक कारिडोर के तहत सहरसा के महिषी से मधुबनी के उच्चैठ भगवती तक 150 किमी लंबाई में फोर लेन सड़क का निर्माण होना है। भूमि उपलब्ध है, लेकिन निविदा नहीं हो रही। सोनपुर-अरेराज के बीच 120 किमी लंबाई में सड़क का निर्माण होना है। भूमि उपलब्ध है, लेकिन निविदा नहीं हो रही।

Note : तस्वीर काल्पनिक है।