बिहार के इन 3 जिलों के 7 सड़कें होगी चकाचक, बनेगा इस खास तरीका से

केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने प्रदेश के 3 उग्रवाद प्रभावित जिलों में 7 सड़कों के निर्माण को मंजूरी दे दी है। बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने इसकी जानकारी देते हुए केंद्र सरकार का आभार जताया। कुल 11 पैकेज के तहत औरंगाबाद गया और बांका जिले में 7 सड़कों का निर्माण किया जाएगा। बता दें कि औरंगाबाद में 5 गया में तीन और बांका में तीन पैक के शामिल है। इन सड़कों के निर्माण की लागत 210.54 करोड रुपए होगी।

ग्रामीण इलाकों में होगा विकास: नितिन नवीन।

राज के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि वामपंथी उग्रवाद से प्रभावित क्षेत्र के वैसे ग्रामीण सड़कें जो ग्रामीण विकास विभाग के अंदर आते हैं उनको इंटरमीडिएट या दो लेन रोड में परिवर्तित किया जाना है। इन सड़कों के निर्माण से उन क्षेत्रों में आर्थिक विकास गति पकड़ेगी। साथ ही जो भी सरकार की सोशल वेलफेयर स्कीम चलाई जा रही है उन योजनाओं को क्षेत्रों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी। उन्होंने इसके लिए केंद्र सरकार का भी धन्यवाद दिया।

इस योजना के तहत पक्के और उच्च क्वालिटी के सड़कों का निर्माण पथ निर्माण विभाग द्वारा किया जा रहा है जिससे हर मौसम में इन क्षेत्रों में कनेक्टिविटी बनी रहेगी। बता दें कि 2017-18 से लेकर अब तक कुल 127 सड़कों के निर्माण की स्वीकृति मिल चुकी है।

इन जिलों में होगा काम।

बता दें कि औरंगाबाद जिले में पांच पैकेज के तहत 88 किलोमीटर सड़क का निर्माण होगा इसमें कुल 91 करोड़ की लागत आएगी। वहीं गया जिले में तीन पैकेज के तहत कुल 40 किलोमीटर सड़क का निर्माण होगा इस पर ₹39 करोड़ खर्च किए जाएंगे वहीं बांका जिले में तीन पैकेज के अंतर्गत 61 किलोमीटर की लंबाई पर सड़क का निर्माण होगा जिस पर 80 करोड़ रुपए की राशि खर्च किया जाएगा।