बिहार के इन पांच रेलवे स्टेशन पर लगेगी बिहार के हस्तशिल्प की प्रदर्शनी, जानिए आपके शहर का स्टेशन है शामिल या नहीं

देश 75 वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है। इस अवसर पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जाएगा। इसके तहत देशभर के 75 रेलवे स्टेशनों पर ‘आत्मनिर्भर भारत’ के तहत बिहार के नामचीन क्राफ्ट की प्रदर्शनी सह बिक्री शुरू की जाएगी। मधुबनी के मधुबनी पेंटिंग से लेकर बिहार के सभी पारंपरिक व प्रचलित क्राफ्ट के अलावा हस्तकरघा और खादी के उत्पाद भी अपना आकर्षण बिखेरेंगे।

अगले हफ्ते बिहार के इन पांच मुख्य रेलवे स्टेशनों, पटना, दरभंगा, गया, भागलपुर और मुजफ्फरपुर पर बिहार के नामचीन क्राफ्ट की प्रदर्शनी सह बिक्री शुरू की जाएगी। बिहार की नामचीन कलाकृतियों, हस्तशिल्प व खादी के लोकप्रिय उत्पादों की धमक बिहार समेत देश के लोगों तक पहुंचाने को लेकर इस अवसर को बिहार के कारीगर और बुनकर प्रचार-प्रसार तथा आमदनी के मद्देनजर विशेष मान रहे हैं। एसबीआई के सहयोग से इन सभी पांच स्टेशनों पर बिहार सरकार के उद्योग विभाग ने स्टॉल बनाने का जिम्मा उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान को दिया था। शुक्रवार की शाम तक स्टॉल तैयार हो गये थे।

उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान के निदेशक अशोक कुमार सिन्हा ने बताया कि स्वतंत्रता के 75वें वर्ष के मौके पर बिहार के हस्तशिल्प, हस्तकरघा और खादी के उत्पादों की बिक्री सह प्रदर्शनी को लेकर ये स्टॉल 14 अगस्त की शाम से 22 अगस्त तक सभी पांच स्टेशनों पर संचालित होंगे।

आपको बता दें कि खादी ग्राम उद्योग पटना के उत्पाद,

भागलपुर के सिल्क उत्पाद, मधुबनी चित्रकारी, तथा अन्य हथकरघा और हस्तशिल्प की वस्तुएं प्रदर्शनी और बिक्री के लिए उपलब्ध रहेंगे।