बिहार के इन पाँच जिलों को पूर्वांचल एक्‍सप्रेस-वे बन जाने से होगा फ़ायदा, जानिए कब बन कर हो जायेगा तैयार

बक्‍सर-पटना फोरलेन हाइवे प्रोजेक्‍ट के तीन हिस्‍सों में से दो हिस्‍से लगभग पूरे हो चुके हैं। बक्‍सर से भोजपुर जिले के कोईलवर तक फोरलेन सड़क अगले साल बनकर पूरी तरह तैयार हो जाएगी, वहीं कोईलवर से पटना जिले के बिहटा के बीच बन रहा सिक्‍स लेन पुल भी पूरी तरह जल्‍द ही चालू हो जाएगा। फिलहाल इस पुल की एक तरफ की तीन लेन चालू है। अब इस प्रोजेक्‍ट का केवल एक हिस्‍सा दानापुर-बिहटा फोरलेन का काम ही बच गया है। बिहार सरकार ने इस हिस्‍से के लिए जल्‍द टेंडर करने का अनुरोध राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से किया है। इस सड़क के रास्‍ते पटना से दिल्‍ली की दूरी ट्रेन से भी कम वक्‍त में पूरी होगी।

बक्‍सर और आरा से आसान हुआ दिल्‍ली का सफर

बिहटा-दानापुर के बीच बनने वाली एलिवेटेड सड़क के इस हिस्‍से के अब तक नहीं बनने से सड़क के रास्ते पटना से दिल्ली अभी भले ही दूर हो, लेकिन बक्सर से यह दूरी ट्रेन से भी कम समय में पूरी होगी। 16 नवंबर को गाजीपुर से लखनउ के बीच बने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करने जा रहे हैं। यह न केवल यूपी के लिए, बल्कि बक्सर और आरा के लोगों के लिए भी तोहफा साबित होगा और सड़क मार्ग से दिल्ली तक का सफर आसान होगा।

सड़क मार्ग से सफर करने पर बचेंगे चार से छह घंटे

ट्रायल बेसिस पर पूर्वांचल एक्‍सप्रेव वे सड़क को कुछ दिनों पहले ही खोल दिया गया था और बक्सर से लोग बड़ी आसानी से सड़क मार्ग से अयोध्या, लखनऊ और दिल्ली का सफर तय कर रहे हैं। बक्सर में राजधानी एक्सप्रेस और संपूर्ण क्रांति जैसी कम समय में दिल्ली तक का सफर कराने वाली ट्रेनों का स्टापेज नहीं है। मगध एवं श्रमजीवी जैसी ट्रेनें यहां से दिल्ली तकरीबन 14 से 16 घंटे में पहुंचती हैं, जबकि सड़क मार्ग से यह दूरी 10 घंटे में तय होगी।

गाजीपुर के हैदरिया से बक्‍सर की दूरी 18 किलोमीटर

18 किलोमीटर की दूरी तय करते ही एक्सप्रेस-वे पर बक्सरवासी सुहाने सफर का आनंद ले सकेंगे। अभी बक्सर से दिल्ली तक सड़क मार्ग से सफर 16 घंटे का है और कोई डेडिकेटेड कारिडोर नहीं होने से कई जगहों पर भीड़भाड़ से गुजरना पड़ता है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे गाजीपुर के हैदरिया पखनपुरा से प्रारंभ हो रहा है और यहां से बक्सर की दूरी महज 18 किलोमीटर है। बक्सर से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे तक चार लेन सड़क की भी योजना स्वीकृत है, लेकिन इसके बनने में अभी कुछ वक्त है। हालांकि, अभी जो दो लेन की सड़क है, वह भी ठीक है और रास्ते में कहीं बॉटल-नेक नहीं होने से जाम की समस्या नहीं है।

ऐसे पहुंचेंगे दिल्ली

गंगा नदी पर बने वीर कुंवर सिंह पुल को पार कर भरौली के रास्ते वहां तक पहुंचने में अधिकतम आधे घंटे लगेंगे। गाजीपुर से छह लेन सड़क पर 340 किलोमीटर की दूरी तय कर लखनऊ पहुंचने के बाद वहां से 300 किलोमीटर के लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे का संपर्क मिल जाएगा और आगरा से यमुना एक्सप्रेस-वे पर 180 किमी दूरी तय कर आराम से नोएडा पहुंच जाएंगे। नई सड़क का लाभ पटना और आरा के लोगों को भी मिलेगा। कोईलवर से बक्सर गंगा पुल तक फोरलेन का निर्माण अगले साल मार्च तक पूरा होने की संभावना है। पटना से बिहटा तक एलिवेटेड रोड पर काम जल्‍द शुरू होने वाला है। इन परियोजनाओं के पूरा होते ही पटना से दिल्ली तक सड़क से संपर्क आसान हो जाएगा।

Note: तस्वीर काल्पनिक है।