Homeबिहारबिहार के इन दो बड़े रेल-परियोजना की जमीन अड़चन दूर ,जल्द कार्य...

बिहार के इन दो बड़े रेल-परियोजना की जमीन अड़चन दूर ,जल्द कार्य शुरू करने के निर्देश

बिहार में रेलवे कई बड़ी योजनाओं का कार्य कर रही है। जिसमें कई परियोजना जमीन विवाद की वजह से लंबित है तो वह अभी तक शुरू भी नहीं हुई है। ऐसे में शनिवार को राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की ओर से बैठक की गई। जिसमें उन्होंने साफ तौर पर अपने अधिकारियों से कहा कि अगर कहीं मुआवजा की राशि को लेकर जमीन अधिग्रहण में परेशानी है तो जिला भू अर्जन पदाधिकारी किसान और जमीन का उपयोग करने वाले विभाग के बीच मध्यस्थ की भूमिका निभाएं। जमीन का उपयोग करने वाले विभागों को भी समाधान के उपायों के प्रति संवेदनशील रहने के लिए कहा गया।

नेउरा-दनियावां-बिहारशरीफ-शेखपूरा रेल लाइन
बता दे कि नेउरा-दनियावां-बिहारशरीफ-शेखपूरा रेल लाइन परियोजना में भी जमीन बाधा है। जिसमें 15 एकड़ जमीन का विवाद सुलझ गया है। विभाग के निर्देशानुसार जल्द ही बाकी बाधाओं को भी सुलझा लिया जाएगा। इस जमीन अधिग्रहण परियोजना को लेकर विभाग द्वारा 20 करोड़ में से 7 करोड़ रुपए का मुआवजा दिया जा चुका है। आने वाले समय में इस रेललाइन के बाधाओं को जल्दी पूरा कर लिया जाएगा।

हाजीपुर-सुगौली रेल लाइन
इस परियोजना के लिए पूर्वी एवं पश्चिमी चंपारण, मुजफ्फरपुर एवं वैशाली जिले में जमीन अधिग्रहण का काम हो चुका है। जमीन पर अधियाची विभाग रेलवे का दखल कब्जा भी हो गया है। रेल लाइन क्षेत्र की 10 संरचनाओं को हटा दिया गया है। इस परियोजना के लिए पूर्वी चंपारण जिला में दो चरणों में 718 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया जाना है। इसमें 227 एकड़ जमीन पर रेलवे का दखल कब्जा हो गया है। मुआवजे की 80 प्रतिशत राशि का भुगतान हो गया है।

Most Popular