Homeबिहारबिहार के इन दो जिलों को नये बर्ष में मिलेगा सौगात, नहीं...

बिहार के इन दो जिलों को नये बर्ष में मिलेगा सौगात, नहीं होगी बिजली क़िल्लत

नए साल से खगड़िया और बेगूसराय जिले में बिजली की उपलब्धता बेहतर हो जाएगी। इन दोनों जिलों को जनवरी माह से सहरसा पावरग्रिड से बिजली मिलने लगेगी। वहीं वर्ष 2022 के सितंबर महीने से सहरसा और मधेपुरा जिले के सभी इलाके में इसी पावरग्रिड से बिजली आपूर्ति होने की संभावना है।

दरअसल सहरसा पावरग्रिड से इन चारों जिले को बिजली आपूर्ति करने के लिए कनेक्टिविटी लाइन जोड़ने का काम बिहार सरकार का बिजली विभाग कर रहा है। सिहौल गांव स्थित सहरसा पावरग्रिड से अभी सहरसा जिले के सोनवर्षाराज और मधेपुरा के सिंहेश्वर ग्रिड को बिजली आपूर्ति की जा रही है।

नेशनल ग्रिड से सहरसा पावरग्रिड के जुड़ा होने के कारण एक तरफ से बिजली बंद होगी तो दूसरे तरफ से बिजली आ जाएगी। खगड़िया पावर जनरेशन के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि सहरसा पावरग्रिड से 2 लाख 20 हजार वोल्ट यानी 220 केवी का कनेक्टिविटी लाइन जोड़ने का कार्य चल रहा है।

31 दिसंबर तक कनेक्टिविटी लाइन से जुड़ने के बाद सहरसा पावरग्रिड से खगड़िया और बेगूसराय को बिजली आपूर्ति शुरू हो जाएगी। मधेपुरा, सहरसा के अधीक्षण अभियंता पावर जेनेरेशन शिवकुमार तांती ने कहा कि सहरसा पावरग्रिड से कनेक्टिविटी लाइन जोड़ने के लिए सहरसा, उदाकिशुनगंज और बनमनखी में बनने वाले वे का स्वायल फिलिंग का काम पूरा कर लिया गया है। अब चारों वे के फाउंडेशन का काम होगा फिर उपकरण कमीशनिंग किया जाएगा। पटना के मेसर्स एवियन टावर को काम पूरा करने के लिए सितंबर 2022 का लक्ष्य दिया गया है। काम पूरा होते सहरसा पावरग्रिड से बिजली आपूर्ति बहाल हो जाएगी।

बनमनखी और धमदाहा को भी मिलेगी बिजली

सहरसा पावरग्रिड से पूर्णिया जिले के बनमनखी और धमदाहा को भी बिजली मिलेगी। इन इलाकों की बिजली आपूर्ति व्यवस्था सुदृढ़ करने के लिए सहरसा पावरग्रिड से ट्रांसमिशन लाइन जोड़ने का काम चल रहा है।

अभी पूर्णिया के पावरग्रिड से कोसी क्षेत्र को मिल रही बिजली

अभी पूर्णिया में स्थित दो पावरग्रिड से कोसी क्षेत्र के सहरसा, सुपौल और मधेपुरा जिले में बिजली पहुंच रही है। पूर्णिया ग्रिड से बिजली की आपूर्ति किशनगंज जिले के अलावा दरभंगा के कुशेश्वरस्थान और फुलपरास को भी की जाती है। अधिकारियों की मानें तो सहरसा पावरग्रिड से आपूर्ति चालू होने के बाद भी पूर्णिया ग्रिड से बिजली आने का विकल्प उपलब्ध रहेगा।

मेन लाइन पटना से भी सहरसा पावरग्रिड में पहुंचती है बिजली

इसी साल नौ अक्टूबर से सहरसा पावरग्रिड चालू है। जिसमें मेन लाइन पटना से भी बिजली पहुंचती है। पावरग्रिड मिथिलांचल ट्रांसमिशन लिमिटेड के वरिष्ठ महाप्रबंधक पंकज कुमार सिंह ने कहा कि चार लाख वोल्ट यानी 1400 एमवीए क्षमता वाला सहरसा उपकेंद्र उपलब्धता मुताबिक जिलों को बिजली आपूर्ति करने के लिए तैयार है। उपकेंद्र से अभी सोनवर्षाराज और मधेपुरा के सिंहेश्वर ग्रिड को बिजली आपूर्ति की जा रही है।

Most Popular