बिहार की सड़को पर चलेंगी प्राइवेट सीएनजी बसें। राज्य सरकार देगी अनुदान, किस ज़िला से होगा शुरुआत

जल्द ही बिहार में बीएसआरटीसी के अलावा निजी बस संचालकों के भी सीएनजी बस चलेंगे। राज्य सरकार प्रदेश को प्रदूषण मुक्त करने के लिए योजनाओं पर लगातार काम कर रही है। सरकार का अच्छे हैं कि चलने वाली डीजल की गाड़ियों की संख्या धीरे-धीरे कम की जाए। इसकी शुरुआत शहरी क्षेत्रों से की जा रही है।

पटना से होगी शुरुआत।

प्रदेश को प्रमोशन मुक्त करने की कड़ी में पटना शहरी क्षेत्र में डीजल वाली सिटी बसों की जगह जल्द ही नए सीएनजी बस चलाया जाएंगे। इसके लिए परिवहन विभाग निजी बस मालिकों को सरकारी अनुदान देगा। इसको लेकर के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। दादा की सीएनजी बसों के शोरूम मूल्य का 50 फ़ीसदी या फिर अधिकतम साडे सात लाख रुपए तक का अनुदान दिया जाएगा।

जिला पदाधिकारी को उपलब्ध कराए जाएंगे 3.75 करोड़।

इस योजना के तहत 15 वे वित्त आयोग की राशि से 3.75 करो रुपए जिला पदाधिकारी को उपलब्ध कराया जाएंगे यह अनुदान पुरानी डीजल बस की जगह नया सीएनजी वाहन खरीदने पर ही दिया जाएगा। बता दें कि पहले चरण में कुल 50 बसों को सीएनजी में कन्वर्ट करने का निर्णय लिया गया है।

अधिकारियों की मानें तो लक्ष्य से अधिक आवेदन आने पर अधिक पुरानी डीजल बसों को प्राथमिकता दी जाएगी। बता दें कि योजना का लाभ देने के लिए 5 सदस्यीय कमेटी बन चुकी है। इस कमेटी में पटना के डीएम डीटीओ पटना सदर सिटी व दानापुर के एसडीओ एमवीआई और प्रवर्तन अवर निरीक्षक शामिल होंगे