बिहार का एक और फोरलेन सड़क इस साल बनकर हो जायेगा तैयार, जानिए किन जिलों को होगा फ़ायदा

राज्य में अलग-अलग सड़कों का निर्माण कार्य चल रहा है। बढ़ती ट्रैफिक को देखते हुए कुछ पुराने दो लेन नेशनल हाइवे को फोरलेन किया जा रहा है। प्रदेश में निर्माणाधीन नरेनपुर- पूर्णिया फोरलेन एनएच-131 ए का निर्माण करीब 19 सौ पांच करो रुपए की लागत से तय समय मार्च 2023 में पूरा होने की संभावना है। बता दें कि सड़क के चौड़ीकरण का कार्य मार्च 2021 से जारी है। इस योजना में कुल 49 किलोमीटर की लंबाई में सड़क का चौड़ीकरण किया जाना है।

चौड़ीकरण के लिए उपलब्ध हो चुकी है जमीन।

बता दें कि सड़क के चौड़ीकरण के लिए जरूरी जमीन उपलब्ध हो चुकी है। पिछले दिनों समीक्षा के दौरान पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने निर्माण कार्य से संतुष्टि जताते हुए इसे तय समय में पूरा करने का अधिकारियों और ठेकेदारों सहित इंजीनियरों को निर्देश दिया है। यह सड़क बनने के बाद सीमांचल के लोगों को काफी फायदा होगा।

सीमांचल की झारखंड से होगी कनेक्टिविटी।

बिहार-झारखण्ड के बीच मनिहारी-साहेबगंज में गंगा नदी पर पुल करीब 6.1 किलोमीटर लंबाई में बन रहे पुल के निर्माण के बाद राज्य के कोषी क्षेत्र को झारखण्ड से सम्पर्क जोड़ने का काम करेगा। साथ ही कटिहार जिले में अमदाबाद के पास महानन्दा पर निर्मित पुल से होकर मालदा (पष्चिम बंगाल) के साथ सुलभ संपर्क उपलब्ध हो सकेगा। इसके अलावा पूर्णिया में पूर्वोत्तर भारत की ओर जाने वाले ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर एनएच 31 पर नरेनपुर- पूर्णिया एनएच समाप्त होता है।

Note: तस्वीर काल्पनिक है।