बिना इंश्योरेंस वाले गाड़ियों के एक्सीडेंट पर सरकार उठाएगी यह बड़ा कदम, जानिए पूरा मामला

बिना इंश्योरेंस वाली गाड़ी सड़क पर लेकर चलने वाले सावधान हो जाएं। अब बिना इंसुरेंस वाली गाड़ी के एक्सीडेंट होने पर कोई व्यक्ति घायल हो जाए या किसी की मौत हो जाए तो सरकार ऐसे गाड़ियों को नीलाम कर देगी। ऐसा उस स्थिति में किया जाएगा जब वाहन मालिक मृतक को 5 लाख रुपए और घायल को 50 हजार रुपए मुआवजा देने से आनाकानी करेंगे।

परिवहन विभाग ने इसको लेकर आदेश जारी कर दिया है।

गाड़ी के बीमा के अलावा थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कराना जरूरी।

परिवहन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि, अब वाहन मालिकों को न केवल अपनी गाड़ी का बीमा कराना जरूरी है बल्कि उन्हें थर्ड पार्टी इंश्योरेंस भी कराना जरूरी होगा। क्योंकि थर्ड पार्टी इंश्योरेंस में ही गाड़ी से दुर्घटना होने पर हताहतों को मुआवजे की राशि बीमा कंपनियों से मिल सकेगी। थर्ड पार्टी इंश्योरेंस सुनिश्चित करने के लिए परिवहन विभाग ने कहा है कि बीमा नहीं रहने वाले वाहनों से मृतक के परिजनों को अंतरिम भुगतान की गई मुआवजा राशि की वसूली की जाएगी। वाहन मालिक बिहार वाहन दुर्घटना सहायता निधि के संबंधित जिले के बैंक खाते में तय अवधि के भीतर पांच लाख रुपए जमा करेंगे। अगर वाहन मालिकों ने इस पैसे को देने में आनाकानी की तो सरकार जब्त गाड़ी को नीलाम कर देगी।

अब सरकार के अधिकारी बीमा कंपनी से खुद वसूलेंगे मुआवजा।

जिन लड़कियों का बीमा हुआ रहेगा उन्हें किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी। बीमा कंपनी से राशि की वसूली में भी सरकार ही मदद करेगी। इसके लिए उन्हें बीमा कंपनियों के चक्कर नहीं काटना पड़ेगा। लिखा जाता है कि आम लोगों से बीमा कंपनियां मुआवजा देने में आनाकानी करती है। लेकिन अब खुद सरकार के अधिकारी ही बीमा कंपनियों से मुआवजा वसूलने। जिले के डीएम द्वारा नामित अधिकारी खुद बीमा कंपनी से मुआवजा वसूल करेंगे।