बस एक क्लिक और एंबुलेंस होगी आपके दरवाजे पर, जाने पूरी डिटेल्स

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार एक महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट लॉन्च करने की तैयारी में है. इसके तहत बीमार लोगों को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाने की व्यवस्था की जायेगी. सरकार ओला-उबर कैब की तरह एप बेस्‍ड एंबुलेंस सेवा शुरू करने का प्लान कर रही है. आपको बता दें कि स्वास्थ्य विभाग को कोरोना काल में एंबुलेंस चालकों द्वारा जरूरतमंदों से अधिक पैसे की वसूली किये जाने की शिकायत मिली थी. इसके बाद इस दिशा में सरकार जुट गयी है. इसका नाम जीवन दूत 108 इमर्जेंसी मेडिकल एंबुलेंस सेवा दिया गया है.

झारखंड के अपर स्‍वास्‍थ्‍य सचिव अरुण कुमार सिंह के अनुसार फ्री एप बेस्‍ड एंबुलेंस सेवा मुहैया कराने वाला झारखंड देश का पहला राज्‍य होगा. एप बेस्‍ड एंबुलेंस सेवा के तहत सभी एंबुलेंस को GPS और GPRS से जोड़ा जाएगा. इस सेवा का लाभ उठाने के लिए लाभुक को ओला और उबर की तरह ही ये एप गूगल प्‍ले स्‍टोर से डाउनलोड करना होगा. मोबाइल फोन नंबर डालने के बाद OTP आएगा. इसे डालते ही संबंधित नंबर रजिस्‍टर्ड हो जाएगा और जीपीएस की मदद से लोकेशन शेयर हो जायेगा.

इसके बाद लाभुक द्वारा एंबुलेंस ड्राइवर से बात की जायेगी और रूट की जानकारी देने के बाद एंबुलेंस सीधे आपके घर पर होगी. इस एप्‍प में नजदीक के अस्‍पताल की जानकारी भी होगी, ताकि जरूरतमंद सीधे डॉक्‍टर से भी बात कर सकें. आपको बता दें कि 330 एंबुलेंस के साथ पहले चरण की शुरूआत की जायेगी. दूसरे चरण में इस प्रोजेक्‍ट को ममता वाहन परियोजना से जोड़ा जाएगा. ममता वाहन से फिलहाल करीब तीन हजार एंबुलेंस जुड़े हुए हैं.