Homeबिहारपैसों के लालच में बिहार की बीएचयू टॉपर छात्रा कैस बन गई...

पैसों के लालच में बिहार की बीएचयू टॉपर छात्रा कैस बन गई सॉल्वर गैंग की अपराधी। जानिए पूरी कहानी

पटना जिले की रहने वाली जूली जिसने BHU के बीडीएस में टॉप किया था उसे वाराणसी क्राइम ब्रांच की पुलिस ने उसकी मां के साथ गिरफ्तार किया है। मां ने ही पैसों के लालच में उसे यह करने को बोला था। वाराणसी क्राइम ब्रांच ने रविवार को नीट परीक्षा के दौरान सॉल्वर गैंग का पर्दाफाश करते हुए बीएचयू में बीडीएस द्वितीय वर्ष की छात्रा जूली और उसकी मां बबिता को गिरफ्तार कर लिया। ये दोनों पटना के बहादुरपुर थाना क्षेत्र स्थित संदलपुर वैष्णवी कॉलोनी की रहने वाली हैं, जबकि गिरोह में शामिल खगड़िया का विकास कुमार महतो भाग निकला। इस सॉल्वर गैंग का मास्टरमाइंड पटना का पीके बताया गया है।

जूली किसी हिना विश्वास नाम की लड़की के स्थान पर नीट की परीक्षा दे रही थी। जानकारी के अनुसार बनारस क्राइम ब्रांच ने पकड़े गए लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि पीके गैंग ने किसी और के स्थान पर परीक्षा देने के लिए पांच लाख रुपये में बात पक्की की और एडवांस के रूप में जूली की मां को 50 हजार रुपये दिए गए थे। दरअसल जूली का भाई अभय कुमार कुशवाहा की दोस्ती खगड़िया जिले के बेला सिकड़ी गांव निवासी विकास कुमार से थी। विकास पहले से पीके के सॉल्वर गैंग से जुड़ा था। विकास को जब इस बात की जानकारी मिली कि अभय की बहन बीएचयू में पढ़ रही है और उसने टॉप किया है तो उसने अभय से बहन को दूसरे की जगह परीक्षा दिलाने को कहा।

इसके बाद विकास ने जूली की मां बबिता से बात की और पांच लाख रुपये दिलाने का वादा किया। तब मां ने आर्थिक स्थिति का हवाला देकर जूली को भी परीक्षा में बैठने के लिए मना लिया। परीक्षा में बैठने से पहले बतौर एडवांस 50 हजार रुपये दिए गए। बाकी का पैसा रिजल्ट आने के बाद देने का वादा किया।

जानकारी के अनुसार जूली के पिता पटना में सब्जी बेचते हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि कुछ लोगों ने उनकी पत्नी से संपर्क किया था कि अपनी बेटी को किसी और के बदले की एग्जाम में बैठा दो 5 लाख रुपए देंगे। उन लोगों ने पहले मेरी पत्नी को ₹50000 दिए। जिसके बाद लालच में आकर उसने जूली से परीक्षा में बैठने को कह दिया। बता दें कि जूली पढ़ाई में बहुत तेज है उसने बीएचयू के अपने सेमेस्टर एग्जाम में टॉप किया है। पुलिस के सामने वह फूट-फूट कर रोने लगी, कि मुझे बचा लीजिए मेरा कैरियर खराब हो जाएगा। आगे से कभी ऐसा नहीं करूंगी।

Most Popular