पटना से राजगीर के लिए बनेगा एक नया शानदार सड़क, मात्र इतने किलोमीटर की रह जाएगी दुरी

मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा कि पटना से राजगीर के लिए सरकार एक नई सड़क का निर्माण करा रही है। इस सड़क के बन जाने से पटना से राजगीर की दूरी मात्र 80 किलोमीटर रह जाएगी। इतना ही नहीं वहां से बोधगया और गया पहुंचने वाले लोगों को भी कोई परेशानी ना हो इसे ध्यान में रखकर सड़क का निर्माण कराया जा रहा है।

राजगीर, नालंदा के लिए कई योजनाओं पर चल रहा काम।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नालंदा यूनिर्सिटी इंटरनेशल है, यहां लोग बाहर से आयेंगे उन्हें किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो इन सब चीजों का ख्याल रखा गया है। बगल में पावपुरी में काफी बेहतर मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल बनाया गया है। गया, बोधगया और पटना से आने वाले लोगों के लिये बेहतर सड़क का निर्माण किया जा रहा है। गंगा जल उद्वह योजना के अंतर्गत गंगा का पानी शुद्ध पेयजल के रूप में लोगों को उपलब्ध कराया जायेगा। दुनिया भर के लोग इस तरह की व्यवस्था को देखेंगे। यूनिवर्सिटी के अलावा स्पोर्ट्स एकेडमी एवं अन्य संस्थाओं में भी गंगाजल को शुद्ध पेयजल के रूप में उपलब्ध कराया जायेगा। बोधगया, राजगीर, नालंदा सभी ऐतिहासिक जगह है। सबका आपस में रिश्ता है। हमलोगों की कोशिश है कि बाहर से आने जाने वाले लोगों को इन जगहों पर जाने में कम से कम समय लगे। एक और सड़क बनाई जा रही है, जिससे राजगीर और पटना की दूरी घटकर 80 किलोमीटर रह जायेगी।

नालंदा यूनिवर्सिटी को दी जाएगी 70 एकड़ जमीन।

उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी बनने के बाद जो हमारे पास 70 एकड़ जमीन है, वह भी उसे उपलब्ध करा देंगे ताकि यूनिवर्सिटी अपने अनुसार उसका उपयोग कर सके और इससे उसे लाभ मिले। मुझे उम्मीद है कि कुछ ही महीने में वहां बिल्डिंग बनकर तैयार हो जायेगा। केंद्र के द्वारा टीचर का रिक्रूटमेंट भी तय हो चुका है। उन्होंने कहा कि हमलोग वहां के वाइस चांसलर के साथ बैठकर विचार विमर्श करेंगे कि राज्य सरकार की तरफ से और क्या करने की जरूरत है ताकि युनिवर्सिटी जल्द से जल्द फंक्सनल हो सके।