पटना से बक्सर एक्सप्रेस-वे अब भागलपुर तक बनेगा, तीन नए फोर लेन का प्रस्ताव भी केंद्र को भेजेगा बिहार

बक्सर से भागलपुर के बीच नया एक्सप्रेस-वे बनेगा। दो दिनों में इस एक्सप्रेस वे सहित तीन अन्य नई फोर लेन सड़क निर्माण का प्रस्ताव सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय को भेजा जाएगा। हाल ही में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने बिहार से 11 सौ किमी नई सड़क का प्रस्ताव मांगा था। मंत्रालय के आग्रह पर ही यह प्रस्ताव भेजा जा रहा। सोमवार को पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने इस संबंध में एक उच्चस्तरीय बैठक भी की। जिन चार योजनाओं को तय किया गया है उन पर विस्तार से विमर्श हुआ। सभी सड़कें भारतमाला शृंखला के तहत बनाई जानी हैं।

– सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने 11 सौ किमी सड़क की कार्ययोजना मांगी है

– पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव ने तय हुई योजनाओं पर की बैठक

मांझी से कुशीनगर फोरलेन

– विक्रमशिला से फारबिसगंज फोरलेन

– नवादा-मोकामा-बरौनी-लदनिया फोरलेन

पहले बक्सर से पटना के बीच एक्सप्रेस-वे पर सहमति थी

पूर्व में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने बक्सर से पटना के बीच एक्सप्रेस-वे बनाए जाने पर अपनी सहमति दी थी। राज्य सरकार ने इसे भागलपुर तक विस्तारित किए जाने का फैसला किया है।

मांझी-गोपालगंज-कुशीनगर सड़क पर सहमति

सिवान के मांझी से गोपालगंज होते हुए कुशीनगर तक फोरलेन सड़क पर पथ निर्माण विभाग ने अपनी सहमति बनायी है। इस सड़क को रिलीजियस एंड टूरिस्ट कंपोनेंट के तहत बनाया जाएगा।

विक्रमशिला से फारबिसगंज के बीच नया फोर लेन

जिस तीसरी सड़क को भारतमाला शृंखला के तहत बनाए जाने का प्रस्ताव भेजा जा रहा वह कहलगांव के समीप बिक्रमशिला से फारबिसगंज के बीच है। इसके तहत गंगा पर नया पुल भी बनाए जाने की बात योजना में शामिल है।

नवादा-मोकामा-बरौनी से मधुबनी के लदनिया तक फोर लेन

चौथी सड़क नवादा से शुरू होकर मधुबनी के लदनिया तक जाएगी। इसे नवादा से आरंभ कर मोकामा-बरौनी-झंझारपुर होते हुए लदनिया तक ले जाया जाएगा।